western-rajasthan-industry-handicraft-festival-from-friday-chief-minister-gehlot-will-inaugurate

पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव शुक्रवार से,मुख्यमंत्री गहलोत करेंगे शुभारंभ

जोधपुर,33वें पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव आयोजन जिला प्रशासन,जिला उद्योग केन्द्र जोधपुर,उद्यम प्रोत्साहन संस्थान, जयपुर तथा नोडल एजेन्सी मरुधरा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन,जोधपुर के संयुक्त तत्वावधान में 6 से रावण का चबुतरा मैदान पर शुरू होगा। यह 15 जनवरी तक चलेगा। इसका शुभारंभ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शाम छह बजे किया जाएगा।

उत्सव की मुख्य थीम विकासशील राजस्थान उद्यमशील राजस्थान रखी गई है। इसे परिलक्षित करते हुए केन्द्रीय पण्डाल में औद्योगिक क्षेत्र में विकसित की गई आधारभूत सुविधाओं एवं क्षेत्र की औद्योगिक विकास की परिलक्षित करने वाली औद्योगिक परियोजनाओं के मॉडल्स का सुन्दर प्रदर्शन किया जायेगा। राजस्थान के विकास एवं गांधीवादी विचारधारा प्रदर्शित करने हेतु जीवन्त पेनोरामा का सृजन किया जा रहा है।यह जानकारी मेला सयोजक सुनील परिहार ने संवाददाता सम्मेलन में दी।

ये भी पढ़ें- ऋषभ पंत को किया मुंबई शिफ्ट, लिगामेंट इंजरी का होगा इलाज

Shiv ji

उत्सव-2023 में शहर के पुरातन गेट गिरदीकोट की प्रतिकृति पर आधारित प्रवेश द्वार इसके समीप घन्टा घर एवं मेहरानगढ़ किले की भव्य प्रतिकृति का निर्माण करावा कर विरासत की यादों को संजोया जायेगा। भव्य केन्द्रीय पाण्डाल में जोधपुर एवं पश्चिमी राजस्थान के औद्योगिक उत्पादों एवं हस्तशिल्प उत्पादों की नयनाभिराम प्रदर्शनी के अलावा जोधपुर में स्थापित राष्ट्र्रीय स्तर के प्रीमीयर संस्थानों के क्रियाकलापों का शानदार प्रदर्शन किया जायेगा।

सिद्धहस्त हस्तशिल्प डिजाईनर अजय शर्मा के निर्देशन में अनुपयोगी सामान से निर्मित सुन्दर हस्तशिल्प उत्पादों के सागर थीम पर आधारित प्रदर्शनी पाथवे का सृजन किया जा रहा है, जो आम जनता के लिए आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेगा।

इसके अतिरिक्त केन्द्रीय पाण्डाल के बाहर दस्तकार हस्तशिल्पी एवं बुनकरों द्वारा अपने हुनर के जीवन्त प्रदर्शन भी किया जायेगा जिसमें ग्लास आर्ट, बुनकर,टाई एण्ड डाई, टेराकोटा,नारियल,आर्टिफिशियल ज्वेलरी,शीप बोन,अर्गन पॉट्री के आईटम एवं पेन्टिंग निर्माण आदि कलाओं का प्रदर्शन किया जाना प्रस्तावित है।

ये भी पढ़ें- पदोन्नति के लिए फर्जी आईएएस से संस्थान के सचिव को करवाया फोन

western-rajasthan-industry-handicraft-festival-from-friday-chief-minister-gehlot-will-inaugurate

15 से अधिक राज्यों के दस्तकार लेंगे भाग

10 डोम में 600 स्टॉलों का निर्माण करवाया गया है। जिसमें 15 से अधिक राज्यों के उद्यमी दस्तकार अपने उत्पादों का प्रदर्शन एवं विक्रय करेंगे। पर्यावरण के प्रति जागरूकता को दृष्टिगत रखते हुए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं भगवान शिव की विशालकाय प्रतिमाओं,जो अनुपयोगी सामग्री का पुन: उपयोग कर निर्मित की गई है का मेला प्रागण में स्थापना की जायेगी।

विशेष सत्रों का आयोजन किया जाएगा

युवाओं में कौशल उन्नयन के प्रति जागरूकता पैदा करने एवं केन्द्र सरकार के कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम की तरफ उन्मुख करने के लिए प्रतिदिन विभिन्न व्यवसायों पर आधारित विशेष सत्रों का आयोजन किया जायेगा जिसमें विषय विशेषज्ञ द्वारा व्यवसाय कौशल की उपयोगिता एवं जिविकोपार्जन में उसके महत्व पर प्रकाश डालेगें ताकि युवा कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम भाग लेकर कौशल विकास कर रोजगार के अवसर पैदा कर सकें।

ये भी पढ़ें- डॉक्टरो के नाम डिसप्ले बोर्ड पर प्रदर्शित करना अनिवार्य

western-rajasthan-industry-handicraft-festival-from-friday-chief-minister-gehlot-will-inaugurate

थीम पेनोरामा

आजादी के लिए किये गये संघर्ष को प्रदर्शित करने के लिए जीवन्त पेनोरामा का सृजन किया जा रहा है। इस पेनोरामा में गांधी वादी विचारधारा एवं आजादी के पश्चात राज्य एवं नगर की विशिष्ट उपलब्धियों,परियोजनाओं का प्रदर्शन भी किया जायेगा।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

घंटाघर और मेहरानगढ़ की प्रतिकृति आकर्षण का केेंद्र

शहर के पुरातन गेट की प्रतिकृति पर आधारित प्रवेश द्वार एवं इसके समीप घन्टा घर एवं मेहरानगढ़ की भव्य प्रतिकृति का निर्माण किया जा रहा है। उत्सव को बहुआयामी स्वरूप प्रदान करते हुए प्रत्येक दिन समसामयिक विषयों पर परिचर्चा,संगोष्ठी, कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। जिसका विवरण इस प्रकार है।

1-एक्सपोर्ट प्रमोशन कौंसिल फॉर हैण्डीक्राफ्ट

कलस्टर योजना से लाभान्वित 40 दस्तकारों को विशेष पवेलियन में अपने उत्पादों के प्रदर्शन एवं विक्रय हेतु कौंसिल द्वारा निःशुल्क स्टॉल्स उपलब्ध कराई जायेगी।

2-कृषि विभाग

आत्मा परियोजना के तहत कृषक संगोष्ठी का आयोजन कर कृषकों को
वैज्ञानिक खेती की जानकारी उपलब्ध कराई जायेगी।

3- सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग

विभिन्न विभागों द्वारा प्रदत्त ऑनलाईन सेवाओं की जानकारी प्रदान की जायेगी।

4-लघु सुक्ष्म एवं मध्यम उद्यम विकास संस्थान

भारत सरकार उत्सव में भाग लेने वाले पात्र लघु सुक्ष्म एवं मध्यम उद्यमियों को 70 से 100 प्रतिशत तक स्टॉल किरायों पूर्नभरण की सुविधा प्रदान की जायेगी।

5-नाबार्ड

नाबार्ड द्वारा उत्सव के दौरान महिला स्वयं सहायता समूहों को 5 स्टॉल्स आवंटित की जा रही है।

6-केन्द्रीय जूट बोर्ड

15 दस्तकारों को जूट के आकर्षक उत्पादों के प्रदर्शन एवं विक्रय हेतु स्टॉल आवंटित करने की सहमति प्रदान की है।

7-विकास आयुक्त हस्तशिल्प

25 हस्तशिल्पियों एवं दस्तकारों को उनके उत्पादों के प्रदर्शन एवं विक्रय हेतु स्टॉल आवंटित करने की सहमति प्रदान की है।

8-जोधपुर आर्टिजन वेलफेयर प्रोड्युसर कम्पनी लि

50 हस्तशिल्पियों एवं दस्तकारों को उनके उत्पादों के प्रदर्शन एंव विक्रय हेतु स्टॉल आवंटित करने की सहमति प्रदान की है।

जीवन्त प्रदर्शन उत्सव के दौरान आयोजन समिति द्वारा लगभग 20 दस्तकारों को कलात्मक सिरकियों से निर्मित स्टॉल निःशुल्क आवंटित की गई हैं। जहां पर यह दस्तकार अपनी कला का जीवन्त प्रदर्शन करने के अलावा अपने उत्पादों का विक्रय भी कर सकेंगे। उत्सव को बहुआयामी स्वरुप प्रदान करते हुए प्रत्येक दिन समसामयिक विषयों पर परिचर्चा/ संगोष्ठी/कार्यशालाओं का आयोजन किया जायेगा जिसका विवरण इस प्रकार है।

ये भी पढ़ें- राष्ट्रपति मुर्मु को राज्यपाल मिश्र ने की राजस्थान यात्रा की फोटो एलबम भेंट

परिचर्चा/संगोष्ठी/कार्यशाला (दोपहर)

7 जनवरी- पश्चिमी राजस्थान में निवेश की सम्भावनाएं,मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना,रिप्स 2019 एवं रिप्स 2022 के मुख्य बिन्दु। जोधपुर में मेडिकल डिवाइस उद्योगों के विकास की सम्भावनाएं।

8 जनवरी-राज्य की पर्यावरण नीति एवं प्रदूषण नियंत्रण मंडल के पर्यावरण मानकों पर संगोष्ठी (जोधपुर के पर्यावरण प्रदूषण एवं नियंत्रण पर विचार विमर्श)(Panel Discussions by Expertson Water & Air Pollution Contral)

9 जनवरी-प्रदेश की विद्युत एवं अक्षय ऊर्जा नीति पर संगोष्ठी एवं पश्चिमी राजस्थान में सौर ऊर्जा के विकास की सम्भावनाएं।

10 जनवरी- श्रम एवं रोजगार पर कार्यशाला।

11 जनवरी-महिला स्वावलम्बन एवं महिला उद्यमिता’ विषय पर संगोष्ठी लालबहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर स्वतंत्रता सैनानियों का सम्मान समारोह।

12 जनवरी-युवाओं के कौशल विकास,उद्यमिता एवं स्टार्टअप विषय पर संगोष्ठी स्वामी विवेकानंद की जयंति पर 1971 की लड़ाई के सैनिकों का सम्मान।

13 जनवरी-प्रदेश की कृषि नीति, कृषि आधारित उत्पादों के मूल्य संवर्द्धन, तकनीकी खेती विषय पर संगोष्ठी एवं कृषक मेला।

14 जनवरी-प्रदेश की खनिज नीति एवं पेट्रोलियम उद्योगों के विकास की सम्भावनाओं विषय पर संगोष्ठी।

इसके साथ ही प्रतिदिन मनोरंजक लोक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का जिसमें राष्ट्रीय स्तरीय विराट कवि सम्मेलन भी का आयोजन किया जायेगा। इसके साथ ही समाज के सभी वर्गों,युवाओं महिलाओं एवं छात्र-छात्राओं के लिए रूचिप्रद प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जायेगा। इस प्रकार उत्सव के दौरान समाज के सभी वर्गो युवाओं,महिलाओं आदि की सक्रिय सभागिता सुनिश्चित की गई है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews