जोधपुर स्टेशन पर बंधेज की साड़ी और पाली में लाख की चूडियों का कियोस्क शुरू

जोधपुर स्टेशन पर बंधेज की साड़ी और पाली में लाख की चूडियों का कियोस्क शुरू

  • केंद्र की वोकल फॉर लोकल नीति को गति दे रही रेलवे
  • एक स्टेशन एक उत्पाद योजना

जोधपुर, केंद्र सरकार की वोकल फॉर लोकल नीति को गति प्रदान करने व स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रेलवे द्वारा प्रारंभ की गई एक स्टेशन एक उत्पाद पायलट प्रोजेक्ट के तहत जोधपुर और पाली स्टेशनों पर जोधपुरी बंधेज और लाख की चूड़ियों का कियोस्क मंगलवार से शुरू हो गया।

मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने बताया कि एक स्टेशन एक उत्पाद योजना के तहत जोधपुर मंडल सिटी स्टेशन पर विश्व प्रसिद्ध जोधपुरी बंधेज की साड़ियों व सूट की लगाई गई कियोस्क मंगलवार से प्रारंभ हुई। कियोस्क पर स्थानीय कारीगर द्वारा बनाई गई जोधपुरी बंधेज की साड़ियां रेलयात्रियों के खरीद के लिए उपलब्ध कराई गई हैं।

जोधपुर स्टेशन पर बंधेज की साड़ी और पाली में लाख की चूडियों का कियोस्क शुरू

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की वोकल फॉर लोकल नीति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जोधपुर के बंधेज कारीगर इस्हाक भाई को बंधेज साड़ी की कियोस्क निर्धारित अवधि के लिए आवंटित की गई है इससे महिला रेल यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर ही यह उत्पाद मिल सकेगा।

इसी प्रकार जोधपुर मंडल के पाली रेलवे स्टेशन पर क्षेत्र की मशहूर लाख और प्लास्टिक की चूड़ियों की लगाई गई कियोस्क का उद्घाटन मंगलवार को विधायक ज्ञानचंद पारख ने फीता काटकर किया। पाली नगर परिषद की सभापति रेखा राकेश भाटी इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद थी।

विकास बैंगल्स के प्रबंधक तेजाराम भायल के अनुसार कियोस्क पर लाख व प्लास्टिक की चूड़ियों के साथ -साथ प्रसिद्ध इमिटेशन बैंगल्स भी बिक्री के लिए उपलब्ध कराई गई है। कियोस्क पर 50 से लेकर 500 रुपए तक के उत्पाद रखे गए हैं। सहायक मंडल वाणिज्य प्रबंधक अशोक कुमार मीणा ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस दौरान विधायक पारख ने केंद्र सरकार की इस नीति की प्रशंसा करते हुए स्थानीय उत्पादों की बिक्री और लघु उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से इसे आवश्यक बताया उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रयासों से रेल यात्रियों के माध्यम से स्थानीय उत्पाद देश के कोने-कोने में पहुंच सकेंगे और छोटे उत्पादकों को इससे आर्थिक संबल मिलेगा। उन्होंने एक स्टेशन एक उत्पाद योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव की सूझबूझ का परिणाम बताया। उद्घाटन के बाद से ही बैंगल कियोस्क पर महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews