दुष्कर्म के आरोपी पहुंचे सलाखों के पीछे

दुष्कर्म के आरोपी पहुंचे सलाखों के पीछे

  • युवती के बालिका गृह से भागने का मामला
  • अर्जी लगाई, जेल से कराई जाएगी शिनाख्त परेड
  • दो दिन से थे पुलिस अभिरक्षा में

जोधपुर, शहर के निकट बालिका गृह मंडोर से 20 मई की रात एक बजे लडक़ी के दीवार फांद कर भागने और फिर उसके साथ दो लोगों द्वारा किए गए दुष्कर्म के आरोप में पकड़े गए अभियुक्तों की रिमाण्ड अवधि खत्म होने पर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें न्ययिक अभिरक्षा में भेज दिया गया है। पुलिस अब आरोपियों की शिनाख्त परेड जेल में युवती के सामने कराएगी। इसके लिए कोर्ट में अर्जी भी दाखिल की गई है। आरोपी दो दिन की पुलिस अभिरक्षा मेें चल रहे थे।

जांच अधिकारी एवं एसीपी उम्मेद सिंह ने बताया कि मंडोर बालिका गृह से 20 मई की रात को एक युवती दीवार फांद कर भाग गई। इस बारे में बालिका गृह अधीक्षक दीपिका विश्रोई की तरफ से उसके फरारी का केस दर्ज करवाया गया था। पुलिस इस किशोरी को ढूंढ कर उसके घर से लेकर आ गई। वह एक साल पहले जिला पश्चिम में झंवर थाने में मर्डर केस में सुधार गृह भिजवाई गई थी। लडक़ी ने पुलिस को बताया कि उसे अपनी ढाई साल की बच्ची और मां पिता की याद आ गई थी। इस कारण वह पलायन कर गई।

गौरतलब है कि लडक़ी ने पुलिस को बताया कि उसे रास्ते में बस स्टेण्ड पर छोडऩे के बहाने दो अलग-अलग जगहों पर रेप किया गया। इस पर पुलिस की टीम ने दुष्कर्म के मामले में दो आरोपियों सोनलपुरा राणेरी बाप निवासी कुलदीप पुत्र लाडूराम विश्रोई और गोदेलाई देचू के बाबूराम पुत्र बुधाराम जाट को गिरफ्तार किया था। दोनों की रिमाण्ड अवधि मंगलवार को खत्म होने पर कोर्ट में पेश किया गया। जहां से न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews