खेलों के क्षेत्र में जोधपुर पाएगा नई ऊँचाइयां

खेलों के क्षेत्र में जोधपुर पाएगा नई ऊँचाइयां

जोधपुर, खेल संसाधनों एवं सुविधाओं के व्यापक विकास एवं विस्तार तथा खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन के साथ ही राष्ट्र्रीय तथा अन्तर्राष्ट्र्रीय स्तर पर अपना हुनर दिखाने के अवसरों में बढ़ोतरी की दिशा में जोधपुर नई ऊँचाइयों की ओर अग्रसर है। आने वाले समय में मुख्यमंत्री का गृह जिला जोधपुर खेलों के मामले में देश-दुनिया में नई पहचान बनाने की ओर अग्रसर होगा। यह सब संभव हो सका है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा जिले में खेल विकास को लेकर स्वीकृत नवीन येाजनाओं की बदौलत।

जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने बताया कि जोधपुर के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा वर्ष 2020-21, 2021-22 एवं 2022-23 के अन्तर्गत कई महत्वाकांक्षी खेल परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं। इनसे खेल क्षेत्र में जोधपुर नई ऊँचाइयों को प्राप्त करेगा तथा यहां की खेल प्रतिभाएं राष्ट्र्रीय एवं अन्तर्राष्ट्र्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धाओं के लिए प्रशिक्षित हो सकेंगी। जोधपुर में 20 करोड़ की लागत से आवासीय पैरा खेल अकादमी की स्थापना की जायेगी। जोधपुर में शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय का विस्तार एवं उन्नयन कराया जायेगा। इसमें शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय, जोधपुर में अतिरिक्त कक्षा कक्ष, छात्रावास, बैंडमिंटन कोर्ट, स्वीमिंग पूल, ऑडिटोरियम आदि सुविधाएं विकसित की जायेगी इसके लिए 5 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है।

इसी प्रकार खेल विभाग के अन्तर्गत 15 करोड़ रुपए की राशि व्यय कर लागत से राजस्थान स्टेट स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट की स्थापना की जायेगी। जोधपुर में 10 करोड़ की लागत से राजस्थान हाई परफोर्मेन्स स्पोर्ट्स ट्रेनिंग द रिहेबिटेशन सेन्टर की स्थापना की जाएगी। इसी प्रकार अमृतलाल गहलोत स्टेडियम,चैनपुरा स्कूल, मण्डोर जोधपुर (संसोधित आंगणवा में) में रेजिडेंशियल स्पोर्ट्स स्कूल बनाया जायेगा। इसमें खिलाडिय़ों को आवास,शिक्षा व खेल प्रशिक्षण की सुविधाए नि:शुल्क उपलब्ध होगी। जिसके लिए अनुमानित व्यय राशि 7 करोड़ है।

वायु सेना मुख्यालय से स्वीकृति प्राप्त

जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने बताया कि इन सभी परियोजनाओं के लिए राज्य सरकार के सतत् प्रयासों व प्रशासनिक अधिकारियों के निरंतर प्रयत्नों के फलस्वरूप लगभग 1 महीने की अवधि के भीतर ही वायु सेना मुख्यालय से स्वीकृति प्राप्त कर ली गई है। उन्होंने बताया कि वायुसेना से अनापत्ति प्राप्त होने से इन सभी परियोजनाओं के कार्य अब शीघ्र ही आरंभ हो सकेंगे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews