केन्द्रीय कारागृह का औचक निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश

केन्द्रीय कारागृह का औचक निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश

विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष ने सचिव एवं जेल अधीक्षक के साथ किया निरीक्षण

जोधपुर, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जोधपुर जिला के अध्यक्ष (जिला एवं सेशन न्यायाधीश) राघवेन्द्र काछवाल, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव पूर्णिमा गौड़ एवं केन्द्रीय कारागृह के जेल अधीक्षक राजपाल सिंह ने संयुक्त रूप से बुधवार को जोधपुर स्थित केन्द्रीय कारागृह का औचक निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान बन्दियों के पास कोई आपत्तिजनक सामग्री नहीं पायी गयी। बन्दियों से उनके स्वास्थ्य एवं भोजन व्यवस्था के बारे में भी पूछताछ करने पर बंदियों ने किसी प्रकार की कोई समस्या होना नहीं बताया।

केन्द्रीय कारागृह में लगे हुए सीसीटीवी कैमरों को चेक करते हुए इसके संचालन के संबंध में जेल अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि सीसीटीवी के संचालन में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाए।
न्यायाधीश काछवाल ने निरीक्षण के दौरान बन्दियों में कारागृह में दी जा रही सुविधाओं एवं भोजन की गुणवत्ता से संबंधित जानकारी भी ली। उन्होंने कैदियों से किसी भी तरह की कानूनी सहायता या मूल सुविधा से संबंधित शिकायतों के बारे में भी पूछताछ की। उन्होंने उचित खान-पान व मूलभूत सुविधाओं को लेकर भी वहां कार्यरत स्टॉफ से बातचीत की।

सचिव गौड़ ने महिला कैदियों को खाने-पीने के लिए दिए जाने वाले भोजन व अन्य तथ्यों को देखा। उन्होंने निरीक्षण के दौरान महिला कैदियों से बातचीत करते हुए बताया कि उनका यहां आने का केवल एक ही उद्देश्य है कि वे महिला कैदियों की समस्याओं से रूबरू होकर उनका निवारण कर सकें। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी महिला कैदी को विधिक सहायता के संबंध में किसी प्रकार की कोई परेशानी हो, तो वे बेझिझक उन्हें बता सकती हैं।
निरीक्षण के दौरान उप-अधीक्षक सौरभ सोनी, डिप्टी जेलर पुरुष सेल महेश शर्मा, डिप्टी जेलर महिला सेल केन्द्रीय कारागृह जोधपुर शकुन्तला देवी विधि छात्रा त्रिवेणी टंडी के अलावा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जोधपुर से महेन्द्र राजपुरोहित भी मौजूद थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews