धर्मांतरण को लेकर कुड़ी इलाके में देर रात हंगामा: पादरी दंपती हिरासत में

धर्मांतरण को लेकर कुड़ी इलाके में देर रात हंगामा: पादरी दंपती हिरासत में

  • हिन्दूवादी संगठन पहुंचे
  • पुलिस बल बुलाया गया
  • कोर्ट से मिली जमानत पर रिहा

जोधपुर, शहर के निकट कुड़ी भगतासनी सेक्टर 2 में देर रात हंगामा हुआ। सूचना पर पुलिस पहुंची। बताया गया कि एक घर में धार्मिक कार्यक्रम चल रहा था। मगर बाद में हिन्दूवादी संगठनों को जानकारी मिली कि धार्मिक आयोजन की आड़ में धर्मांतरण किया जा रहा है। इस पर पुलिस को शिकायत दी गई। पुलिस ने वहां पर आए पादरी दंपती को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के आलाधिकारी मिली शिकायत पर कार्रवाई कर दंपती को आज दोपहर बाद कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। घटना मेें पुलिस ने इसमें एक महिला द्वारा अपने घर में धार्मिक आयोजन होना बताया।

कुड़ी पुलिस ने बताया कि रात में सेक्टर 2 में एक परिवार की तरफ से धार्मिक आयोजन का कार्यक्रम चल रहा था। तब हिन्दूवादी संगठन के कुछ लोग वहां पहुंच गए। इनका आरोप था कि धार्मिक कार्यक्रम की आड़ में धर्मांतरण किया जा रहा है। इस पर उन्होंने परिवार में चल रहे धार्मिक आयोजन को धर्मांतरण मान कर विरोध जताना शुरू कर दिया। इससे वहां हंगामेदार स्थिति बन गई। काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। इधर सूचना मिलने के साथ ही एसीपी बोरानाडा जेपी अटल, कुड़ी थानाधिकारी सुमेरदान भी पहुंचे। लोगों से समझाइश कर मामला शांत करवाया गया।

थानाधिकारी ने बताया कि इस बारे में जिस घर में आयोजन चल रहा था वहां मौजूद महिला ने बताया कि घर पर खाने का आयोजन था और कुछ मेहमानों को बुलाया है। धर्मांतरण जैसी कोई बात नहीं है। थानाधिकारी ने बताया कि फिलहाल इस बारे पादरी दंपती सेमराजा सिंह एवं उसकी पत्नी को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया। उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

महिला के परिवार का चर्च में आना जाना

सूत्रों के अनुसार बिहार की इस महिला परिवार का चर्च में आना जाना रहता है। उनके संपर्क में पादरी परिवार भी था। क्षेत्र मेें एक हिन्दूवादी संगठन का कार्यकर्ता भी रहता है। इस आशंका में उसने धर्मांतरण होने की बात को फैलाया।

रात में हिन्दूवादी संगठनों ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

धर्मांतरण की जानकारी जैसे-जैसे हिन्दूवादी संगठनों को पता लगी तो वे रात को कुड़ी सेक्टर 2 में उस महिला के बाहर एकत्र हो गए और वहां बाहर ही हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। उल्लेखनीय है कि इसी माह के शुरूआत में 3 मई को शहर में सांप्रदायिक तनाव का माहौल बना था। जिसके बाद से हिन्दूवादी संगठन ज्यादा सतर्कता बरतने लगे हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews