रक्तदान और फिर मिलेंगे के संकल्प के साथ मेले का समापन

रक्तदान और फिर मिलेंगे के संकल्प के साथ मेले का समापन

  • पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव-2024 सम्पन्न
  • 151 ने किया रक्तदान
  • 12 लाख से अधिक लोगों ने मेले में की शिरकत
  • सेमिनार और प्रतियोगिताओं में नजर आया उत्साह

जोधपुर,रक्तदान और फिर मिलेंगे के संकल्प के साथ मेले का समापन।शहर के रामलीला मैदान में चल रहे पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव रविवार को सम्पन्न हो गया। मेले के अंतिम दिन हुए विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में रक्त दाताओं ने उत्साह से भाग लिया और 151 यूनिट रक्तदान हुआ। आयोजन समिति के सदस्यों ने भी रक्तदान कर आमजन को रक्तदान करने के प्रति जागरूक किया।लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मेला संयोजक घनश्याम ओझा ने बताया कि मेले के अंतिम दिन रक्तदान महादान के संकल्प के साथ विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित हुआ।

यह भी पढ़ें – शोरूम के आगे खड़ी कार चोरी

रक्तदान में मेले के मुख्य समन्वयक महावीर चोपड़ा और आयोजन सचिव एसएस पालीवाल ने रक्तदान कर शिविर का औपचारिक उद्घाटन किया और उसके बाद काफी संख्या में रक्तदाताओं ने रक्तदान किया। मेले में कुल 151 यूनिट रक्त एकत्रित किया गया। उन्होंने बताया कि 24 फरवरी को शुरू हुए इस 12 दिवसीय मेले में शहर वासियों ने जबरदस्त उत्साह दिखाया।जोधपुर के अलावा आसपास के जिलों से भी लोग मेला देखने आए और यहां आए छोटे-छोटे आर्टिजन और उद्यमियों को भी काफी अच्छी बिक्री का प्लेटफार्म उपलब्ध कराया गया।

यह भी पढ़ें – लारेंस व रोहित गोदारा का मुख्य गुर्गा चढ़ा पुलिस के हत्थे

12 लाख से अधिक लोगों ने मेले में की शिरकत
मेले के मुख्य समन्वयक महावीर चोपड़ा ने बताया कि इस बार मेले में 12 लाख से अधिक लोगों ने मेले में शिरकत की। मेले की शुरुआत के साथ ही लोगों ने मेले के प्रति उत्साह दिखाया और सभी स्टॉल्स पर लगाए गए उत्पादों की सराहना की।

यह भी पढ़ें – दिन भर बारिश में नहाई सूर्यनगरी

सेमिनार के माध्यम से उद्योगों को दी गई नवीन जानकारियां
स्वागत समिति अध्यक्ष शांतिलाल बालड ने बताया कि मेले में इस बार अलग-अलग विषयों पर 11 सेमिनार आयोजित किए गए। प्रतिदिन हुए सेमिनार में अलग-अलग विषयों पर उद्यमियों को नवीनतम जानकारियां दी गई और संबंधित विषय विशेषज्ञों ने सरल अंदाज में उद्योग के लिए आने वाली समस्याओं के समाधान बताए। इस दौरान संबंधित विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे,जिसका काफी लाभ हुआ। सेमिनार में उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी,वन एवं पर्यावरण मंत्री संजय शर्मा,उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सहकारिता मंत्री गौतम कुमार दक, उद्योग एवं वाणिज्य राज्य मंत्री केके बिश्नोई ने भी शिरकत की और सब अपने अपने विभागों से जुड़ी समस्याओं के सकारात्मक निस्तारण का विश्वास दिलाया।

यह भी पढ़ें – मादक पदार्थ तस्करी में 5 हजार का इनामी अपराधी गिरफ्तार

फिर मिलेंगे के संकल्प के साथ मेले का समापन
मेला संयोजक घनश्याम ओझा ने बताया कि रविवार को मेले का फिर मिलेंगे संकल्प के साथ समापन समारोह आयोजित हुआ,जिसमें संत रामप्रसाद का सानिध्य मिला। इस दौरान संत रामप्रसाद ने मेले की स्टॉल्स का अवलोकन किया और बेहतरीन आयोजन के लिए पूरी मेला समिति को बधाई दी।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts