साइबर सिक्योरिटी पर जागरूक संगोष्ठी आयोजित

साइबर सिक्योरिटी पर जागरूक संगोष्ठी आयोजित

उद्यमियों व उनकी औद्योगिक इकाई में कार्यरत कर्मचारियों के लिए आयोजन

जोधपुर,साइबर सिक्योरिटी पर जागरूक संगोष्ठी आयोजित। जोधपुर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा उद्यमियों व उनकी औद्योगिक इकाई में कार्यरत कर्मचारियों को साइबर सिक्योरिटी पर जागरूक करने के लिए शुक्रवार को एक जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन एसोसिएशन सभागार में किया गया।
संगोष्ठी के प्रारम्भ में अतिथि का स्वागत करते हुए जेआईए के अध्यक्ष एनके जैन ने कहा कि डिजिटल तकनीक ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है।इससे समाज को अनगिनत लाभ हुए हैं लेकिन हम साइबर अपराधों के रूप में नए गंभीर खतरों का सामना कर रहे हैं। अनजाने में हमारे बच्चों,युवाओं,कॉरपोरेट घरानों और निर्दोष लोगों को साइबर सिक्योरिटी की सही जानकारी न होने के कारण वे इसके जाल में गिर रहे हैं। वे अपराधी व इस अपराध के शिकार बन रहे हैं। इन अपराधों को रोकने का एक मात्र तरिका जागरूकता है। इसी उद्देश्य से एसोसिएशन द्वारा उद्यमियों और आम जनता को जागरूक करने हेतु इस संगोष्ठी का आयोजन किया गया है।

यह भी पढ़ें – बीमा क्लेम खारिज करना अनुचित, हर्जाने का आदेश

संगोष्ठी की वक्ता डीआर सीबीएस साइबर सिक्योरिटी सर्विसेज एलएलपी की साइबर सुरक्षा लेखा परीक्षक डॉ.स्वाती वशिष्ट ने चलचित्र के माध्यम से ईमेल और अनुलग्नकों में फ़िशिंग लिंक की पहचान करना, फर्जी मेल की पहचान करना,सुरक्षा सुविधाओं के लिए सोशल मीडिया खातों का प्रबंधन करना,पासफ़्रेज़ बनाना,सुरक्षित ई-बैंकिंग,मोबाइल में फर्जी ऐप्स से सुरक्षा,सुरक्षा सुविधाओं के लिए मोबाइल सेटिंग्स की समीक्षा करना एवं स्मार्ट फोन के लिए सुरक्षा इत्यादि जैसे विषयों पर विस्तार से जानकारी दी।

यह भी पढ़ें – सेक्टर अधिकारियों का प्रथम प्रशिक्षण संपन्न

संगोष्ठी के दूसरे वक्ता सरदार पटेल पुलिस,सुरक्षा और आपराधिक न्याय विश्वविद्यालय,जोधपुर के सहायक प्रोफेसर डॉ.अर्जुन चौधरी ने उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि जागरूकता से साइबर अपराधों से बचा जा सकता है। इससे उद्यमियों को सबसे ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है क्योकि उनका पूरा कारोबार विदेशो से ऑनलाइन लेन-देन द्वारा किया जाता है। आप अपनी थोड़ी सी सतर्कता से अपना बड़ा नुकसान होने से रोक सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने चलचित्र के माध्यम से सायबर सिक्योरिटी के विभिन्न मुद्दों जैसे समाज में साइबर अपराध के वर्तमान परिप्रेक्ष्य और इसकी शमन रणनीति के तहत साइबर क्राइम के प्रकार,उद्योगपति और उनके उद्योगों के साथ होने वाले साइबर अपराधों एवं आम आदमी के साथ होने वाले साइबर अपराधों जैसे कार्ड स्टीमिंग,बैंकिंग धोखाधड़ी,मोबाइल मैलवेयर अटैक,फ़िशिंग,सोशल इंजीनियरिंग,पासवर्ड चोरी,जाली खाते इत्यादि के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी।

यह भी पढ़ें – विवेकानंद जयंती पर भारत विकास परिषद ने की पुष्पांजलि अर्पित

संगोष्ठी के प्रारम्भ में जेआईए कार्यकारिणी सदस्य राहुल धूत ने संगोष्ठी की वक्ता डॉ.स्वाती वशिष्ट और अंकुर अग्रवाल ने संगोष्ठी के दूसरे वक्ता डॉ.अर्जुन चौधरी का जीवन परिचय दिया। इस अवसर पर कार्यकारिणी सदस्य राहुल धूत ने संगोष्ठी में उपस्थित उद्यमियों एवं औद्योगिक कर्मचारियों को साइबर क्राइम से खुद को सुरक्षित रखने की छोटी-छोटी बारीकियों के बारे में अवगत कराया। संगोष्ठी के प्रश्न-उत्तर सत्र में सभी आमंत्रितों ने मुख्य वक्ता के साथ अपने विचार साझा किए और उनके प्रश्नों के लिए संतोषजनक उत्तर प्राप्त किए। मंच का संचालन करते हुए सहसचिव अनुराग लोहिया ने संगोष्ठी के अंत में संगोष्ठी के वक्ता डॉ. अर्जुन चौधरी और डॉ.स्वाती वशिष्ट का उद्यमियों और औद्योगिक कर्मचारियों को साइबर सिक्योरिटी के बारे में विस्तार से जानकारी देने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि उद्यमियों व उनकी औद्योगिक इकाई में कार्यरत कर्मचारियों के लिए समय-समय पर इस प्रकार की परिचर्चाओं एवं संगोष्ठियों का आयोजन जोधपुर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा किया जाता रहा है। हम आशा करते हैं यह संगोष्ठी आप सभी को साइबर अपराध से अपने आप को व अपने व्यवसाय को सुरक्षित रखने में मददगार सिद्ध होगी।
इस संगोष्ठी में जेआईए के पूर्व अध्यक्ष किशनलाल गर्ग,आशाराम धूत, कोषाध्यक्ष सोनू भार्गव,कार्यकारिणी सदस्य अरूण जैसलमेरिया,अंकुर अग्रवाल,अरविन्द कालानी,सुरेश मुथा, अमित लोहिया,यशपाल पाहवा एवं विनोद परिहार सहित अनेक उद्यमी, औद्योगिक कर्मचारी एवं आजमन उपस्थित थे।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts