घर की बहादुर बेटी ने टाल दी लाखों की नकबजनी

घर की बहादुर बेटी ने टाल दी लाखों की नकबजनी

  • भागते चोर के पैर पकड़े मगर वह भागने में सफल हो गया
  • गुढ़ाभाकरी में आधी रात को पिता पुत्र के घर मेें घुसा नकबजन
  • तीन स्थानों से चुराई गाडिय़ां भागने में सफल

जोधपुर,घर की बहादुर बेटी ने टाल दी लाखों की नकबजनी।शहर के निकटवर्ती गुढ़ाभाकरी गांव में रविवार की सुबह चार बजे एक चोर ने दीवार के सहारे चढ़ते हुए पिता पुत्र के घर में सेंध लगा ली। सब कमरों में सो रहे घरवालों को बाहर से कुंडा लगा कर बंद कर दिया। मगर एक कमरे का लकड़ी का दरवाजा घर की बेटी ने खोल दिया। उसे खटपट की आवाज पर नींद खुल गई और वह चोर के पीछे काफी दूर तक भागी। 20-25 तोला सोना जाने से बचा लिया। कुछेक आइटम चोर लेकर चला गया। पुलिस ने इसमें जल्द ही खुलासे की संभावना व्यक्त की है। चोर ने भागने के लिए तीन गाडिय़ों का सहारा लिया और तीन जगहों से बाइक को चुराया। शनिवार की रात को बाइक चुराने के बाद वह गुढ़ाभाकरी पहुंचा था। फिर भागने के लिए दो और बाइक का सहारा लिया।

यह भी पढ़ें – मारपीट से बचकर भागे युवक को कार ने लिया चपेट में,मौत

एसीपी बोरानाडा नरेंद्र सिंह देवड़ा ने बताया कि गुढ़ाभाकरी में गंगाराम विश्रोई और उनके पुत्र भेपाराम का मकान पास पास बने है। दो तीन दिन पहले घर में शादी समारोह का आयोजन भी था। ऐेसे में काफी रिश्तेदार और नातेदार भी आए हुए थे। रविवार तडक़े चार बजे एक चोर गंगाराम के मकान के पीछे दीवार चढक़र अंदर घुसा। पिता पुत्र की दीवार पर एक ही छत है। वह पिता के कमरे में जाकर चोरी करने के साथ उनके पुत्र भेपाराम के घर में दाखिल हुआ। वह छत के रास्ते सीढिय़ों से नीचे उतरा और एक कमरे में चोरी करने के लिए बाहर से कुंडा लगा दिया। एक कमरे में परिवार के लोग सो रहे थे। फिर वह भेपाराम के घर में आया यहां दो कमरें थे। यहां पर भी कमरों के बाहर से कुंडे लगा दिए।
थैले में सोना चांदी भर लिया। एक कमरे भेपाराम की पुत्री सुशीला, उसकी भाभी और एक अन्य सोया हुआ था। घर में खटपट की आवाज पर उनकी नींद टूट गई। चूंकि दरवाजा बाहर से बंद था, ऐसे में यह लोग बाहर नहीं आ सके। मगर सुशीला ने पीछे से एक लकड़ी का दरवाजा था जिसे जोर से खींचा तो वह कुंडा सहित खुल गया। फिर वह चोर चोर चिल्लाते हुए भागी।उसे पकडऩे का प्रयास तो वह भाग गया। चोर ने अपनी बाइक को दो से तीन सौ मीटर की दूरी पर खड़ा कर रखा था। जहां भागते हुए पहुुंचा। तब सुशीला भी पीछे भागती रही मगर सुशीला ने उसके पैर पकड़ लिया। फिर वह बाइक लेकर भाग गया। मगर सोना चांदी से भरा थैला वही छूट गया। इस थैले में आड,तिमणियां,गले का हार सहित 20-25 तोला सोना था जो बच गया। अब वह कितना माल लेकर गया इसका पता लगाया जा रहा है। कुछेक आइटम वह लेकर गया है। एसीपी बोरानाडा देवड़ा ने बताया कि वह जिस बाइक पर भागा वह शनिवार रात को ही राजपुरोहितों का बास से चोरी हुई थी।

यह भी पढ़ें – विवि बॉक्सिंग टीम हुई चण्डीगढ़ रवाना

रविवार को दो जगहों से बाइक चुराकर आगे भागे
चोर ने भागते हुए शनिवार की रात को बाइक चोरी की थी वह बाद में एक स्थान पर छोड़ गया। फिर किसी ढाणी में जाकर दूसरी बाइक को चुराया और शाम को फिर किसी अन्य की बाइक को चुराकर भाग निकला। कुल तीन बाइक चुराई दो को छोड़ गया।

यह भी पढ़ें – राज्य की 11.24 लाख महिलाओं को मिलेगा लखपति दीदी योजना का लाभ-मुख्यमंत्री

सुशीला ने टाली बड़ी नकबजनी
इस पूरे घटनाक्रम में घर की बेटी सुशीला ने बड़ी नकबजनी को टाल दिया। अन्यथा चोर 20-25 तोला सोना और चांदी आदि चोरी कर ले जाता। जानकारी मिलने पर बाद में विवेक विहार थानाधिकारी राजेंद्र सिंह चारण सहित अन्य अधिकारी वहां पहुंच गए।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts