special-lecture-on-inclusive-education-of-divyangjan

दिव्यांगजन के समावेशी शिक्षा पर विशेष व्याख्यान

अधिकार,अधिनियम,प्रावधानों, नीतियों पर फोकस

जोधपुर,भारतीय पुनर्वास परिषद नई दिल्ली के संयोजन से नवज्योति मनोविकास विशेष शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय में तीन दिवसीय राष्ट्रीय स्तर की सीआरई कार्यक्रम के दूसरे दिन के प्रथम सत्र में पीजीआईएमईआर,राष्ट्रीय महत्व संस्थान,भारत सरकार चंडीगढ़ के मनोचिकित्सा विभाग के सह आचार्य डॉ कृष्ण कुमार सोनी ने दिव्यांग जनों के अधिकार अधिनियम आरपीडब्ल्यूडी एक्ट 2016 के विभिन्न प्रावधानों को विस्तार पूर्वक समझाया।

द्वितीय सत्र में जयपुर चेंबर ऑफ इंटरनेशनल (जेसीआई) के अभिप्रेरक वक्ता एवं पुनर्वास विशेषज्ञ डॉक्टर चिरंजीव कान्तीया ने विशेष आवश्यकता वाले बालकों के विकास एवं पुनर्वास हेतु विभिन्न नीतियों एवं कार्यक्रमों को बताया। तीसरे सत्र में अजय लीला विशेष शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य एवं सहायक आचार्य महेश पवार ने दिव्यांग जनों के पुनर्वास एवं विकास हेतु समावेशी शिक्षा की आवश्यकता को विभिन्न उदाहरणों द्वारा समझाया। उन्होंने बताया कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में किस प्रकार भारत सरकार समावेशी शिक्षा पर कार्य कर रही है चौथे एवं अंतिम सत्र में भारत सरकार के सीआरसी अहमदाबाद के सहायक आचार्य डॉ अजीत कुमार सिंह ने दिव्यांग बालकों हेतु सहायक उपकरणों,विभिन्न योजनाओं एवं प्रावधानों की जानकारी दी तथा बताया कि सीआरसी भारत सरकार द्वारा किस प्रकार विभिन्न शिविरों के माध्यम से दिव्यांग जनों को आवश्यक सहायक उपकरण वितरित किए जा रहे हैं। कार्यक्रम समन्वयक डॉ महेंद्र कुमार ने बताया कि आज के चारों सत्र के सभी विषय विशेषज्ञों ने अपने अनुभव एवं व्याख्यान से सभी प्रतिभागियों को लाभान्वित किया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews