air-force-maneuvers-veer-guardian-team-leaves-for-japan

वायु सेना के युद्धाभ्यास वीर गार्जियन दल जापान के लिए रवाना

जोधपुर,16 से 26 जनवरी तक होने वाले वायु सेना के युद्धाभ्यास वीर गार्जियन (भारत जापान) में भारत से वायुसेना का एक दल रविवार को जापान के लिए रवाना हुआ। इस युद्धाभ्यास में शामिल होने जोधपुर से 4 सुखोई फाइटर जेट के साथ दल ने जापान के लिए उड़ान भरी। युद्धाभ्यास में इंडियन एयरफोर्स की महिला पायलट नया इतिहास गढऩे जा रही हैं।

जापान में होने वाले हवाई युद्धाभ्यास में पहली बार भारत से महिला पायलट अवनी चतुर्वेदी (स्क्वॉड्रन लीडर) हिस्सा ले रही हैं। दल में सुखोई-30 की महिला पायलट स्क्वॉड्रन लीडर अवनी चतुर्वेदी शामिल हैं,विदेशी धरती पर होने वाले किसी भी हवाई युद्धाभ्यास में भाग लेने वाली अवनी देश की पहली महिला पायलट होंगी।

ये भी पढ़ें- मिलेट्स महोत्सव के पोस्टर का न्यूयॉर्क में विमोचन

वैसे तो देश की दो महिला लड़ाकू पायलट ने फ्रांसीसी वायुसेना सहित कई देशों की सेना के साथ युद्धाभ्यास किया है लेकिन किसी महिला वायु सैनिक के लिए विदेश जाकर युद्धाभ्यास करने का यह मौका पहली बार है। यह युद्धाभ्यास जापान के ओमिटामा में हायकुरी एयरबेस पर होगा जिसमें जापान और भारत की एयर आर्मी हिस्सा लेंगी।

जापान के ओमिटामा में हायकुरी एयरबेस पर वीर गार्जियन

भारत और जापान की वायु सेनाओं के बीच यह युद्धाभ्यास पहली बार हो रहा है जिसे नाम दिया गया है वीर गार्जियन। ओमिटामा (जापान) में हयाकुरी एयरबेस पर होने वाले इस युद्धाभ्यास में सुखोई स्क्वाइन के सीओ ग्रुप कैप्टन अर्पित काला भी भारतीय दल का हिस्सा हैं। उन्होंने बताया कि यह हमारे लिए अलग तरह का अनुभव होगा।

हाई और लो स्पीड में होगी वॉर प्रैक्टिस

स्क्वाड्रन लीडर भावना कंठ ने भारतीय वायुसेना द्वारा संचालित सुखाई लड़ाकू विमान पर कहा कि इस विमान के बारे में अद्वितीय बात यह है कि इससे उच्च गति और कम गति दोनों पर युद्धाभ्यास किया जा सकता है। इसमें कई बार ईंधन भरने के कारण बहुत लंबी दूरी के मिशन पूरे किया जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें- लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कपूर राष्ट्रीय स्काउट गाइड जंबूरी रोहट में पहुंचे

चीन को जवाब देने के लिए साथ आए भारत-जापान दूसरे विश्वयुद्ध के बाद से शांति का रास्ता अपनाने वाले जापान ने चीन की आक्रामकता का उसी भाषा में जवाब देने की ठान ली है। चीन जिस तरह भारत को परेशान करता आया है उसी तरह जापान को भी परेशान कर रहा है। ऐसे में जापान ने शांति की नीति ख़त्म करते हुए एक बार फिर सेना के निर्माण का फैसला लिया है।

पहली बार है जब भारत व जापान साथ में युद्धाभ्यास कर रहे

ऐसा पहली बार है जब भारत व जापान साथ में युद्धाभ्यास कर रहे हैं। यह युद्धाभ्यास भारतीय वायु सेना और जापान एयर सेल्फ डिफेंस फोर्स मिलकर वीर गार्जियन- 2023 नाम से खतरनाक एयर डिफेंस सैन्य अभ्यास करेंगे। ये युद्धाभ्यास जापान के हयाकुरी हवाई अड्डे पर आयोजित किया जा रहा है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews