बैंगटी कलां में हुई डकैती खुली, छह डकैत गिरफ्तार,जाली मुद्राए मिली

बैंगटी कलां में हुई डकैती खुली, छह डकैत गिरफ्तार,जाली मुद्राए मिली

जोधपुर, जिले के फलोदी तहसील के बैगटी कलां के पास स्थित फैक्ट्री सच्चियाय मां कोंटेक्स में डकैती की घटना कारित करने वाले 6 डकैतों को 3 हथियारों के साथ 31 राउण्ड, घटना में प्रयुक्त लग्जरी कार, नकली भारतीय मुद्रा, कई इलेक्ट्रोनिक उपकरणों,फर्जी नम्बर प्लेट्स सहित गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने बताया कि 15 मार्च को परिवादी जुगलकिशोर पुत्र शंकरलाल राठी की तरफ से रिपोर्ट दी गई। इसमें बताया कि वह बैंगटी कलां सच्चियाय माँ कोटेक्स नाम से सन् 2015 से चला रहा है। मन्डी का लाईन्सेस है उक्त फैक्ट्री मे रायड़ा कपास की खरीद करते हैं। पास में उसकी इन्ड्रस्ट्रीज है 15 मार्च की सुबह ऑफिस मे खड़ा था। उसका पुत्र अशोक कुमार बाहर फैक्ट्री में था। वक्त करीब सुबह 8.15 बजे एक सफेद रंग की कार फैक्ट्री के मेन गेट से अन्दर आयी उसमे से चार आदमी मुंह बांधे हुए नीचे उतरे व कार को वापस गेट पर ले जाकर खड़ी कर दी उसमे मे से तीन आदमी मेरे ऑफिस में मेरे पास आए जिनमें से दो के पास हाथों मे पिस्टल थी।

एक के हाथ में चाकू था, इन्होंने मुझे धमकाते हुए पिस्तौल व चाकू दिखाकर कहने लगे जल्दी से रुपए निकालो।  मैंने कहा तुम कौन हो कहां से आये हो इतने कहने पर एक ने मेरे ऊपर पिस्तौल से फायर किया जो मेरे पेट के पास कमीज को फाड़ते हुए काउन्टर पर लगा। तब दूसरे ने भी फायर किया जो चला नही मेरे को एक ने धक्का देकर गिरा दिया तथा मेरे गले में पहनी सोने की चेन खींचकर ले ली। मुझे चाकू दिखाकर डराया धमकाया तथा गल्ले की चाबी मांगी तो मैंने कहा चाबी मेरे पास नहीं है। ऊपर है, फिर उन्होने गले को खींचकर संभाले फिर बाहर निकले तो सामने सामने मेरा पुत्र अशोक राठी खड़ा था। मै भी इनके पीछे-पीछे बाहर आ गया। तब इन लोगो ने मेरे पुत्र पर भी फायर किए जिससे मेरे पुत्र के बांये पैर के घुटने पर गोली लगी। जिससे वो नीचे गिर गया इतने में फैक्ट्री में काम करने वाले भंवरलाल, सुनील ,भैराराम व मजदूर को आते देख वे चारों फायर करते हुए कार में बैठकर बैगंटी कला गांव की तरफ कार लेकर भाग गए।

पुलिस की टीम को लगाया गया

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि उक्त घटना को गम्भीरता से लेते हुए प्रकरण का खुलासा कर डकैतों को अतिशीघ्र गिरफतार करने के निर्देश दिए गए। जोधपुर ग्रामीण, जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर, नागौर में ’ए’श्रेणी की नाकाबंदी करवायी गई। एएसपी अरुण कुमार माच्या, उपधीक्षक रामकरण सिंह मलिण्डा के निकट सुपरविजन में थानाधिकारी पुलिस थाना फलादी राकेश ख्यालिया एवं डीएसटी प्रभारी दीपसिंह के साथ टीम का गठन किया गया।

टीम द्वारा थाना फलोदी क्षेत्र व उसके आस-पास के क्षेत्र यथा जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, नागौर क्षेत्र के सभी रूट वाइज सीसीटीवी फुटेज लेकर उनका विश्लेषण किया गया तथा इसके आधार पर संदिग्धों के वीडियो फुटेज लेकर उनके बारे में जानकारी हासिल करने के प्रयास किये गए।

इन्हेंं पकड़ा गया

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कयाल ने बताया कि घटना में अब गिंगला खेड़ापा के शैतानसिंह पुत्र भारत सिंह, भूपेंद्रसिंह पुत्र राजेंद्र सिंह,दातारामगढ़ जयपुर के हनुमानसिंह पुत्र भंवर सिंह, भाकरोड नागौर के बलवीर सिंह पुत्र देवी सिंह, खेड़ापा बिरसालू के गणपत पुत्र भंवराराम जाट एवं आकोड़ा जयपुर के मनीष वर्मा पुत्र ताराचंद बलाई को गिरफ्तार किया गया।

वारदात से पहले करते है रैकी

इस गैंग के मुख्य सरगना हनुमानसिंह, शैतानसिंह व भूपेन्द्रसिंह द्वारा अवैध रूप से हथियारों की खरीद फरोख्त कर लग्जरी कार के द्वारा अपने इलेक्ट्रोनिक उपकरणों से विभिन्न एप्प से विदेशी नम्बरों से आपस में संपर्क कर गैंग का गठन करते हैं। इस गैंग द्वारा जोधपुर ग्रामीण,जोधपुर कमिश्नरेट, जैसलमेर, बाड़मेर,नागौर, बीकानेर में डकैती के लिये जगह चयनित कर उसकी एक-दो दिन पहले रैकी करते हैं। बाद में एप के जरिये वाहनों के नम्बरों का पता कर एरियानुसार लग्जरी वाहनों के नम्बर प्लेट्स तैयार कर उस स्थानों में घुसते है। उसके पश्चात हथियारों से लैंस होकर घटना के जगह प्रवेश करते हैं और लगातार हथियारों से फायरिंग कर घटना को अंजाम देते हैं।

हथियार और जाली मुद्रा बरामद

पकड़े गए बदमाशों के पास से 1 पिस्टल, 2 देशी कट्टा, 31 जिन्दा राउण्ड, खाली खोखे 2 व एक धारदार चाकू बरामद कर घटना में प्रयुक्त लग्जरी कार आई 20 बरामद की गयी जिसकी तलाश लेने पर 01 लाख 74 हजार 500 रूपये के नकली भारतीय मुद्रा बरामद हुई।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews