पुलिस को चांदी मिली, सोना ढूंढने में छूट रहे पसीने

पुलिस को चांदी मिली, सोना ढूंढने में छूट रहे पसीने

  • आरोपी ने एक एक कर सारे आइटम बस से फेंक दिए थे
  • तीन किलो चांदी और 300 ग्राम सोना होने का अंदेशा

जोधपुर, शहर के आशापूर्णा सिटी से गत बुधवार को ज्वैलर अनिल सोनी के अपहरण एवं हत्याकांड के आरोपी पाक विस्थापित राजेश उर्फ राजू माली पुलिस अभिरक्षा में है। उसे पुलिस बुधवार तक वापिस जोधपुर ला सकती है। पुलिस ने लूटे गए गहनों में कुछ चांदी के आइटम बरामद किए हैं तो सोना ढूंढने में पुलिस को दिक्कत आ रही है। कारण कि उसने चलती बस से सभी आइटमों को एक एक कर फेंका था। चांदी ढाई से तीन किलो हो सकती है, तो सोना 300 ग्राम तक हो सकता है। फिलहाल कितना माल पुलिस बरामद कर लाती है इस बारे पुलिस के आने पर ही पता लग पाएगा। फिलहाल पुलिस की टीमें अहमदाबाद- उदयपुर रूट पर तस्दीक कर रही है।

पुलिस प्रकरण को केस ऑफिसर स्कीम में लाकर जल्दी से जल्दी आरोपी को सजा भी दिलाना चाहती है। जल्दी ही चार्जशीट दाखिल करने के पक्ष में भी नजर आ रही है। पुलिस ने अब तक रिमाण्ड अवधि में आरोपी से उसके खून से सनी शर्ट, कार, हत्या के प्रयुक्त कैंची को भी जब्त कर लिया है। कुछ ज्वैलरी बरामद हुई है। कार की भी एफएसएल जांच की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि गत बुधवार की शाम को ज्वैलर बालाजी नगर पाल निवासी अनिल सोनी पुत्र भंवरलाल सोनी का उसके परिचित पाक विस्थापित गंगाणा निवासी राजेश उर्फ राजू माली पुत्र छगनाराम ने बहला फुलसाने के बाद अपहरण कर अपने साथ लेकर गया था। उदयपुर में ले जाकर उसकी हत्या करने के साथ शव को जला दिया था। गत गुरूवार को अनिल सोनी का शव रणकपुर के मगघा घाट में सूने स्थान पर बरामद हुआ था। आरोपी राजू माली को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया था। अब उससे रूट की तस्दीक रिमाण्ड अवधि  में चल रही है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews