मुख्य आरोपी भतीजा नहीं लगा हाथ, चाचा और सहयोगी को भेजा जेल  

मुख्य आरोपी भतीजा नहीं लगा हाथ, चाचा और सहयोगी को भेजा जेल

  • ई-मित्र की आड़ में साइबर ठगी का खेल
  • पुलिस कर रही सर्च
  • एक आरोपी का भतीजा है मुख्य आरोपी करणपाल

जोधपुर,मुख्य आरोपी भतीजा नहीं लगा हाथ, चाचा और सहयोगी को भेजा जेल।कमिश्ररेट की मंडोर पुलिस ने ई-मित्र की आड में फर्जी दस्तावेज बनाकर बैंक खाते खुलवा साइबर फ्रॉड और ऑनलाइन गेमिंग करने वाले अपराधियों को बेचने के मामले में दो आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार किया था। इसका मुख्य आरोपी अभी पुलिस के हाथ नहीं लगा है। मुख्य आरोपी पकड़े गए एक आरोपी का भतीजा है। चाचा भतीजा मिलकर यह ठगी का खेल चला रहे थे। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें – किड्स फैशन शो में बच्चो ने महापुरुषों व देवी देवताओं के रचे स्वांग

पुलिस ने ई-मित्र पर छापा मारकर इसका संचालन करने वाले दो युवकों के पास से 60 आधार कार्ड,20 डेबिट कार्ड,15 पैन कार्ड,5 बैंक पासबुक,8 चेक बुक और 2 सरकारी मोहरें जब्त की थी।थानाधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि इसमें ओसियां के गाडों का बास हाल पहाडग़ंज प्रथम निवासी पूरण सिंह और फलोदी के मतोड़ा हाल पहाड़गंज द्वितीय निवासी जितेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया। इसका मुख्य आरोपी करणपाल अभी तक फरार चल रहा है। पकड़े गए आरोपियों को जेल भिजवाया गया है। पकड़ा गया आरोपी जितेंद्र सिंह करणपाल का चाचा है।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts