उद्यमियों ने किया वंदे भारत ट्रेन के वर्कशॉप का भ्रमण

उद्यमियों ने किया वंदे भारत ट्रेन के वर्कशॉप का भ्रमण

स्थानीय उद्यमी किस प्रकार कर सकते है वंदे भारत ट्रेन में उपयोग होने वाले उत्पादों की आपूर्ति जानी

जोधपुर,उद्यमियों ने किया वंदे भारत ट्रेन के वर्कशॉप का भ्रमण। जोधपुर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा मंगलवार को उद्यमियों के लिए वंदे भारत ट्रेन के रखरखाव वर्क शॉप में एक औद्योगिक भ्रमण का आयोजन किया गया। इस औद्योगिक भ्रमण में उत्तर पश्चिम रेलवे जोधपुर मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) पंकज कुमार सिंह एवं उनकी टीम द्वारा उद्यमियों को वंदे भारत ट्रेन में उपयोग किए जाने वाले विभिन्न घटकों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई।
डीआरएम पंकज कुमार सिंह एवं उनकी टीम ने जोधपुर के उद्यमियों को चलचित्र के माध्यम से बताया कि वंदे भारत ट्रेन में उपयोग होने वाले विभिन्न घटकों को स्थानीय उद्योग अनुसन्धान अभिकल्प एवं मानक संगठन के मानकों के अनुरूप तैयार कर रेलवे को इन उत्पादों की आपूर्ति कर सकते हैं। इससे न सिर्फ हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्रजी मोदी का “वोकल फॉर लोकल“ का सपना पूर्ण होगा बल्कि स्थानीय इकाईयों को भी अपने उत्पाद को आरडीएसओ के तय मानकों के अनुसार विकसित करने का मौका मिलेगा। उनके उत्पाद भी विश्वस्तरीय गुणवत्ता के हो जायेगे जिनसे उनको अपने उत्पादों को निर्यात करने में भी सहायता मिलेगी।

यह भी पढ़ें – रिटायर्ड पुलिसकर्मी के साथ हुई साइबर ठगी

उन्होंने वंदे भारत ट्रेन में स्थानीय उद्योगों के लिए उपयोगी एवं आवश्यक घटकों की जानकारी दी जैसे गैंग वे डस्टप्रूफ सुरक्षा सुविधाओं, ग्लास स्टोन प्रूफ की हीट लोड गुणवत्ता,पैनल को लगाना एवं खोलने हेतु आसान बनाना,टच फ्री स्लाइडिंग डोर का निर्माण,कम्युनिकेशन इंप्रूवमेंट,रिक्लाइनिंग सीटें बेहतर डिजाइन करना व टॉयलेट बायो वैक्यूम चोकिंग में जोधपुर के उद्योगों के लिए अच्छी संभावनाएं हैं। इसके साथ ही उन्होंने सिग्नलिंग सुविधाएँ, लिथियम आयन बैटरी,डैम्पर्स,लचीले पाइप,स्प्रिंग्स,वाइपर असेंबली इंसुलेटर,जल गुणवत्ता फ़िल्टरिंग प्रणाली,धूल रहित एयर कंडीशनिंग, हर कोच में स्मोक डिटेक्शन सिस्टम एवं स्विच पुश बटन जैसे विभिन्न घटकों की आपूर्ति स्थानीय उद्योगों द्वारा की जा सकती है। इसके अतिरिक्त उन्होंने उद्यमियों को बताया कि जोधपुर में वन्दे भारत ट्रेनों के कोच मेंटेनेन्स डिपो के निर्माण का कार्य प्रगति पर है। आने वाले समय में यहाँ 40-50 वन्दे भारत ट्रेनों का रखरखाव एक साथ किया जा सकेगा। उन्होंने उद्यमियों को यह भी बताया कि यदि उद्यमी उनकी तकनिक को ओर अधिक विकसित करते हैं तो उन्हें लम्बी प्रक्रिया में जाने की जरूरत नहीं होगी मंडल प्रबंधन स्वयः उसे स्वीकृति हेतु मुख्यालय को भेज देगा जो उद्योगों के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है। इस अवसर पर उन्होंने उद्यमियों को वंदे भारत ट्रेन का भ्रमण भी कराया और ट्रेन की कार्य प्रणाली की जानकारी दी।

यह भी पढ़ें – अवैध डोडा पोस्त के साथ तस्कर गिरफ्तार

इस अवसर जेआईए अध्यक्ष एनके जैन ने बताया कि प्रधानमंत्री ने हाल ही में बड़े पैमाने पर देश के कई रेलवे स्टेशनों के पुनर्गठन,स्टेशनों का आधुनिकीकरण एवं एस्केलेटर सुविधा युक्त बनाने की घोषणा की है। इन रेलवे स्टेशनों के आधुनिकीकरण हेतु उपयोगी विभिन्न उत्पादों जिनका आयात बाहर से किया जाता है उनका उत्पादन स्थानीय स्तर पर किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त भारतीय रेल सिर्फ अनुसन्धान अभिकल्प एवं मानक संगठन ;आरडीएसओ के द्वारा प्रमाणित सामान ही खरीदता है व बहुत सारे उत्पाद ऐसे है जो भारत में ही निर्मित होते है लेकिन आरडीएसओ प्रमाणित नहीं होने के कारण सिर्फ आयातित ही उपयोग में लिये जाते हैं। आरडीएसओ का एक मात्र कार्यालय लखनऊ में स्थित है आरडीएसओ का सभी डिवीजन लेवल पर एक ऑफिस शुरू किया जाना चाहिए जहां से इकाईयां उत्पाद संबंधित सभी जानकारी जैसे स्पेसिफिकेशन,ड्राइंग प्राप्त कर सके व वहीं पर पुनः प्रोडक्ट स्वीकृति हेतु फॉर्म भी जमा करा सके। इससे उनको जो आर्थिक भार उठाना पड़ता है वो कम हो जायेगा। इसके साथ ही उनके समय की भी बचत होगी एवं अधिक से अधिक एमएसएमई इकाईयां अपने उत्पादों को आरडीएसओ द्वारा स्वीकृत करवाकर भारतीय रेल को सप्लाई कर सकेगें। उन्होंने वंदे भारत ट्रेन में आपदा प्रबंधन हेतु स्ट्रेचर एवं व्हीलचेयर की व्यवस्था करवाने का सुझाव दिया।

यह भी पढ़ें – अफीम और गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार

इस अवसर पर जेआईए सहसचिव अनुराग लोहिया ने डीआरएम पंकज कुमार सिंह से ट्रेन कोच फैक्ट्री जोधपुर ने स्थापित करवाने की मांग रखी। जेआईए के पूर्व अध्यक्ष जितेन्द्र महोश्वरी एवं सहसचिव अनुराग लोहिया ने वंदे भारत ट्रेन में यात्रियों की यात्रा सुविधा युक्त बनाने और सुरक्षित बनाने हेतु कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिये। कोषाध्यक्ष सोनू भार्गव, कार्यकारिणी सदस्य अंकुर अग्रवाल, दीपक जैन,मयूर माहेश्वरी,विनोद आचार्य,राजेश जीरावाला,मृदुल सालेचा,आशीष जैन,रुशिल अग्रवाल, संजय चौहान सहित जोधपुर की अन्य एसोसिएशन के पदाधिकारी एवं स्थानीय उद्यमी उपस्थित थे।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts