राजस्थान में निर्वाचन विभाग का नवाचार

राजस्थान में निर्वाचन विभाग का नवाचार

  • लोकसभा आम चुनाव-2024
  • पोस्टल बड्डी:डाक मतपत्रों के लिए सुविधा पोर्टल

जयपुर,राजस्थान में निर्वाचन विभाग का नवाचार। राजस्थान निर्वाचन विभाग प्रदेश में चुनाव प्रक्रिया को अधिक समावेशी और आसान बनाने के क्रम में एक नवाचार करते हुए डाक मतपत्रों (पोस्टल बैलट) के लिए एक सुविधा पोर्टल ‘पोस्टल बड्डी’तैयार किया है।लोकसभा आम चुनाव2024 के दौरान इस पोर्टल के माध्यम से डाक मतपत्रों के लिए आवेदन से लेकर मतदान तक की पूरी प्रक्रिया की ऑनलाइन मॉनिटरिंग की जा सकती है। इससे ‘कोई भी मतदाता न छूटे’ के अभियान को सार्थक बनाया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें – पिज्जा बेकरी और ज्वैलरी की दुकान में लगी भीषण आग

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने गुरुवार को पोर्टल के शुभारम्भ के अवसर पर बताया कि इस पोर्टल के इस्तेमाल से अतिआवश्यक सेवाओं में जुटे कार्मिकों,होम वोटिंग के लिए पात्र बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं,निर्वाचन कार्य में नियोजित मतदाता आदि को दी जा रही पोस्टल बैलट सुविधा अधिक आसानी से प्राप्त की जा सकेगी। इसमें किसी भी स्तर पर, किसी भी मतदाता के पोस्टल बैलट के लिए आवेदन से लेकर मताधिकार के उपयोग तक के विभिन्न चरणों को रियलटाइम ट्रैक करने की सुविधा है। पोर्टल के जरिए इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट (ईडीसी) भी आसानी से जारी किया जा सकेगा।

गुप्ता के अनुसार,पोस्टल बैलट की प्रक्रिया को त्रुटि-रहित और अधिक प्रभावी बनाने के लिए राष्ट्रीय सूचना- विज्ञान केन्द्र श्रीगंगानगर ने यह पोर्टल तैयार किया है। पोस्टल बैलट के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त होने के बाद उनकी जानकारी पोर्टल में दर्ज की जाती है। पोर्टल के जरिए आवेदन, उसकी जांच से लेकर,पोस्टल बैलट जारी करने और मतदान तक के अलग-अलग चरण के ऑनलाइन हो जाने से पोस्टल बैलट की निर्वाचन टीमों और अधिकारियों को सहूलियत होगी।

प्रदेश में अब तक होम वोटिंग के लिए 85 वर्ष से अधिक आयु के 3,641 तथा दिव्यांगजन के 948 फॉर्म फार्म प्राप्त हुए हैं, जिसे इस पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। निर्वाचन कार्य में नियोजित रहने वाले मतदाताओं में से कुल 2,74,836 का डेटा अपलोड किया जा चुका है, जिनमें से 1,94,742 फॉर्म जांचे जा चुके हैं।

पोस्टल बड्डी पोर्टल पर विभिन्न चरणों पर निगरानी और प्रक्रिया संचालन के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी,जिला निर्वाचन अधिकारी,रिटर्निंग ऑफिसर के स्तर पर लॉगइन करना संभव है। ऑनलाइन प्रक्रिया में किसी भी स्तर पर गलती या आंकड़ों का मिलान नहीं होने की स्थिति में समस्या को पकड़ना और उसका समाधान करना आसान होगा।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts