बिजली कटौती की जांच हो तो मिलेंगे लंबे भ्रष्टाचार के तंत्र- शेखावत

बिजली कटौती की जांच हो तो मिलेंगे लंबे भ्रष्टाचार के तंत्र- शेखावत

केंद्रीय मंत्री ने बिजली संकट को लेकर गहलोत सरकार पर बोला तीखा हमला

जोधपुर, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एकबार फिर राज्य में बिजली संकट को लेकर गहलोत सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने पूछा कि कांग्रेस सरकार के समय ही बिजली संकट क्यों गहराता है? इसकी जांच हो तो बहुत लंबे भ्रष्टाचार के तंत्र महंगी बिजली खरीदने के नाम पर जरूर मिलेंगे।

रविवार को भाजपा के कार्यक्रम से इतर मीडिया से बातचीत में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब-जब भी राजस्थान में कांग्रेस की सरकार आती है। जैसे अभी सरकार है। वर्ष 2008-13 के बीच में सरकार थी। उससे पहले भी कांग्रेस की सरकार 1998-2003 तक रही है। शेखावत ने सवाल उठाया कि अशोक गहलोत साहब के समय ही बिजली का संकट और बिजली कटौती की स्थिति क्यों बनती है? इस बात की जांच मीडिया को भी करनी चाहिए। यदि इसकी जांच करेंगे तो इसमें बहुत लंबे भ्रष्टाचार के तंत्र महंगी बिजली खरीदने के नाम पर जरूर मिलेंगे।

अक्षय ऊर्जा से जुड़े सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि निश्चित ही यह भविष्य की ऊर्जा है। जिस तरह से जलवायु परिवर्तन का इंपैक्ट पूरी दुनिया में है। पूरी दुनिया जिस तरह से डरी और सहमी हुई है। पूरी दुनिया ने यह तय किया है कि ग्लोबल टेंपरेचर को 2 डिग्री वृद्धि तक ही सीमित रखने के लिए हम अक्षय ऊर्जा पर काम करेंगे। मुझे इस बात की प्रसन्नता है, जो परिस एग्रीमेंट में भारत एकमात्र ऐसा देश है, जिसने जो कमिटमेंट किया था कि हम 40,000 मेगावाट अक्षय ऊर्जा बनाएंगे। हम उस लक्ष्य से ज्यादा प्राप्त कर चुके हैं। पूरी दुनिया के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के नेतृत्व में भारत इस दिशा में एक रोल मॉडल बना है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews