gandhi-film-screening-in-college

महाविद्यालय में गांधी फिल्म का प्रदर्शन

जोधपुर,वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में गांधी दर्शन को समझने व अपनाने की नितांत आवश्यकता है। यह बात महाविद्यालय प्राचार्य डॉ उषा चौहान ने स्थानीय महाविद्यालय में गांधी अध्ययन केंद्र व रेंजर इकाई के द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत गांधी शांति प्रतिष्ठान तथा प्रौढ़ व सतत शिक्षा केंद्र,जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के सहयोग से गांधी फिल्म का प्रदर्शन के अवसर पर कही। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ ओपी टाक, निदेशक प्रौढ़ व सतत शिक्षा केंद्र व समाज शास्त्र विभाग में सह आचार्य ने गांधीजी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला।

gandhi-film-screening-in-college

गांधी शांति प्रतिष्ठान के निदेशक डॉ भावेंद्र जैन ने गांधी दर्शन एवं वर्तमान नैतिक मूल्य पर व्याख्यान दिया। कार्यक्रम में उपस्थित सद्भावना अभियान कर्ता राजेंद्र गहलोत ने स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 1947 के समाचार पत्रों की प्रति छात्राओं को दिखाई। इस अवसर पर प्राणी शास्त्र विभाग की तरफ से 2019 बैच की छात्रा को उसके स्नातक के महाविद्यालय के तीन वर्षों के समग्र मूल्यांकन के आधार पर सोनिया देवड़ा को सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थी पुरुस्कार से सम्मानित किया गया। प्राणी शास्त्र की सह आचार्य डॉ हेमू चौधरी ने बताया कि प्राणी शास्त्र विभाग की इस नवीन पहल से अन्य छात्राएं भी प्रोत्साहित होंगी। कार्यक्रम में डॉ रेनू कोहली,सहायक निदेशक, कॉलेज शिक्षा जोधपुर संभाग,डॉ उषा राठी,डॉ ऋचा गुप्ता,डॉ अंशुल दाधीच, डॉ बीएल भादू ,डॉ पिंकी खोईवाल उपस्थित थी। डॉ जसराज शर्मा ने अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन डॉ हेमू चौधरी ने किया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews