कंपनी वेण्डरों की साजिश से निकाली 5.77 लाख की नगदी

कंपनी वेण्डरों की साजिश से निकाली 5.77 लाख की नगदी

  • एटीएम मशीनों से छेड़छाड़
  • सिरोही में कर्मचारी पकड़ा गया तो जोधपुर में भी की जांच
  • खुलासे के बाद पुलिस में दर्ज हुआ मामला

जोधपुर,कंपनी वेण्डरों की साजिश से निकाली 5.77 लाख की नगदी। शहर के पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम मशीनों में जमा हो रखी हो रकम को एक कंपनी के कर्मचारी/वेण्डरों ने मिली भगत कर 5.77 लाख की नगदी चुरा ली। मामला जोधपुर का है,मगर प्रकरण तब सामने आया जब सिरोही में एक कंपनी के कर्मचारी की कारसतानी सामने आई। इस पर यहां भी एटीएम मशीनों की जांच की गई।

यह भी पढ़ें – सिगरेट पीने गए युवक की हंसी उड़ाने पर विवाद,सीने व सिर पर मारा चाकू

अदालत से मिले इस्तगासे के आधार पर अब भगत की कोठी पुलिस ने धोखाधड़ी एवं चोरी में प्रकरण दर्ज कर तफ्तीश आरंभ की है। यहां मामले को लेकर पीएनबी शाखा मधुबन हाउसिंग बोर्ड प्रबंधक घेवरराम की तरफ से केस दर्ज करवाया गया।
दरअसल पीएनबी ने देश प्रदेश में अपनी बैंक शाखाओं के कई स्थानों पर एटीएम मशीनें लगा रखी हैं।मशीनें लगाने के लिए मैसर्स डाईबौल्ड निक्स डोर्फ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड समझौता कर रखा है। कंपनी के कर्मचारियों द्वारा ही एटीएम मशीनों की देखभाल एवं सर्विसिंग की जाती है। कंपनी के कर्मचारियों द्वारा 30 नवंबर 22 को सिरोही जिले में पीएन बी शाखा के एटीएम पर जाकर
सर्विसिंग की गई थी। अगले दिन यानी 1 दिसम्बर 22 को बैक के कर्मचारी एटीएम पर राशि रखने गए तो कम होना प्रतीत हुआ। जिस पर पता लगा कि 45 हजार रुपए कम हैं। तब मशीन की जांच की गई तो मालूम हुआ कि मशीन में 23 जुलाई 21 से लेकर 5 जून 22 तक छेड़छाड़ करते हुए 6 लाख 92 हजार 900 रुपए निकाले गए हैं। जिस पर सिरोही कोतवाली थाने में इसकी रिपोर्ट दी गई। पुलिस ने जांच के बाद कंपनी के कर्मचारियों को गिरफ्तार भी किया था।

यह भी पढ़ें – पुलिस कर्मी का अपहरण कर बंधक बनाकर ब्लेड से हमला करने वाला गिरफ्तार

रिपोर्ट के अनुसार सिरोही में इस तरह की चोरी पकड़े जाने पर जोधपुर के मधुबन स्थित पीएनबी शाखा के एटीएम की भी जांच की गई तो पता लगा कि यहां पर 5.77 लाख की राशि का गबन और चोरी की गई है। दो एटीएम मशीनों से क्रमश: 3.20 लाख एवं 2.57 लाख रुपए चोरी किए गए है। इस बारे में 23 जनवरी 23 को भगत की कौठी थाने में रिपोर्ट दी गई थी,मगर पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। अब कोर्ट में इस्तगासे के मार्फत चोरी एवं धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने इसमें अग्रिम जांच आरंभ की है। सिरोही जिला पुलिस की तरफ से पकड़े गए अभियुक्तों को लेकर पुलिस पूछताछ कर सकती है।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts