कैंसर जागरूकता कार्यशाला आयोजित

कैंसर जागरूकता कार्यशाला आयोजित

शुद्ध और सही खान पान से स्वस्थ शरीर का निर्माण

जोधपुर,कैंसर जागरूकता कार्यशाला आयोजित। अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल द्वारा महिलाओं के लिए कैंसर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आगाज़ विश्व कैंसर दिवस पर 4फरवरी से प्रारंभ किया गया।अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल के निर्देशानुसार तेरापंथ महिला मंडल सरदारपुरा द्वारा कैंसर जागरूकता सबंधित कैंप का आयोजन संचेती अस्पताल एवं कैंसर इंस्टीट्यूट में आयोजित किया गया। कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर सुरेश संचेती एवं गाइनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर अमिता संचेती के मार्गदर्शन में इस कैंप का आयोजन किया गया। नवकार महामंत्र से इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई। तत्पश्चात महिला मंडल की बहनों ने मंगलाचरण प्रस्तुत किया।

यह भी पढ़ें – खेलकूद प्रतियोगिता राघोत्सव के अंतिम दिन हुए फाइनल मुकाबले

इस अवसर पर महिला मंडल अध्यक्ष दिलखुश तातेड़ ने स्वागत भाषण से सबका हार्दिक स्वागत व अभिनंदन किया। सुशीला भंसाली व दिलखुश तातेड़ ने शॉल व दुपट्टा ओढ़ा कर दोनों डॉक्टर को सम्मानित किया।
डॉ प्रियंका बेद ने दोनों डॉक्टर के बारे में परिचय दिया व कैंसर जागरूकता के बारे में जानकारी दी। डॉ अमिता संचेती ने बताया कि हम नियमित चेकअप के द्वारा कैंसर से बच सकते हैं। आजकल फिर भी यूथ इतनी जागरूक हो गई है की यूट्रस कैंसर के मामले बहुत कम हो गए हैं।पहले लोग बताने से डरते थे मगर अब काफी जागरुकता आई है। महिलाएं सफाई का ध्यान रखने लगी हैं हाइजीन रहने लगी हैं। लेकिन ब्रेस्ट कैंसर काफी बढ़ रहा है इसका लेट शादी होना मुख्य कारण है। उसके बाद बच्चे भी काफी उम्र आने के बाद होते हैं।

यह भी पढ़ें – आगामी कार्यक्रम को लेकर भाजपा की बैठक आयोजित

डॉ.सुरेश संचेती ने बताया कि हमारा अस्वस्थ खानपान व अस्वस्थ दिनचर्या से ही कैंसर होता है। कैंसर कई प्रकार के होते हैं जैसे ब्रेस्ट कैंसर,स्किन कैंसर,फेफड़े का कैंसर,लिंफोमा सहित 200 से अधिक प्रकार के कैंसर होते हैं। इन सभी कैंसर के लक्षण और जांच एक दूसरे से भिन्न होते हैं कैंसर के कुछ मुख्य लक्षण इस प्रकार है, जिनका हमे विशेष ध्यान रखना चाहिए जैसे अचानक वजन कम या ज्यादा होना,अत्यधिक थकान,कोई भी बीमारी लंबे समय तक रहना,त्वचा में बदलाव,तेज दर्द। आप किसी भी बीमारी में 2 महीने तक वेट कर सकते हैं उसके बाद में आपको बार-बार उसकी जांच करना अनिवार्य है। हमारा अस्वस्थ खानपान जिसमें कई ऐसे तत्व या पदार्थ मौजूद होते हैं जो कैंसर होने की जोखिम को बढ़ाने की क्षमता रखते हैं। कैंसर के मामले फ्रिज औऱ स्टोरेज में रखी सब्जियां,फल,दाल चावल पेय पदार्थ मिठाई आदि से भी बढ़ते है। 40 वर्ष की आयु के बाद हर वर्ष हमें अपना हेल्थ चेकअप करवाते रहना चाहिए और हमारा खान-पान स्वस्थ व हेल्दी होना चाहिए।

यह भी पढ़ें – बनभूलपुरा दंगे का मास्टर माइंड अब्दुल गिरफ्तार

आजकल तो कैंसर के लिए वैक्सीन भी उपलब्ध है जिससे आने वाले फ्यूचर में इन बीमारियों से बच सकते हैं। हमारी जीवन शैली और हमारे खानपान में हम परिवर्तन करके हम अपनी अच्छी दिनचर्या से अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। योगा और व्यायाम के द्वारा भी हम अपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं। संचालन डॉ प्रियंका बेद ने किया। आभार ज्ञापन उपाध्यक्ष अमिता बेद ने किया।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts