पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे को लेकर ट्विटर पर चलाया अभियान

पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे को लेकर ट्विटर पर चलाया अभियान

जोधपुर,पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आन्दोलन के आह्वान पर आज पुरानी पेंशन बहाल करवाने हेतु हेसटेग वोट फॉर ओपीएस महा अभियान चलाया गया। आंदोलन के जोधपुर जिला अध्यक्ष रामू राम जाखड़ ने बताया कि इस महा अभियान में पूरे देश से केन्द्र तथा राज्य कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। उत्तर प्रदेश, मणिपुर, गोवा, पंजाब तथा उत्तराखंड के चुनाव में सभी राजनीतिक पार्टियों से पुरानी पेंशन के मुद्दे को घोषणा पत्र में शामिल करने तथा सरकार बनने के बाद पुरानी पेंशन बहाल करने हेतु यह टि्वटर अभियान चलाया गया। दिन भर मुद्दे को लेकर हेजटेग “वोट फॉर ओपीएस” टॉप पर ट्रेंड करता रहा। इस ट्विटर अभियान में लगभग 5 लाख ट्वीट किए गए।

पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे को लेकर ट्विटर पर चलाया अभियान

उन्होंने बताया कि ट्विटर अभियान को सफल बनाने के लिए एनएमओपीएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु, प्रदेशाध्यक्ष कोजाराम सियाग, प्रदेश महासचिव जगदीश यादव, प्रदेश सचिव माला राम डूडी, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष जयकरण खिलेरी, राष्ट्रीय महासचिव सरफराज हुसैन, रेसला प्रदेशाध्यक्ष मोहन सियाग, शारीरिक शिक्षक संघ प्रदेश अध्यक्ष हापु राम चौधरी,शिक्षक संघ शेखावात संभाग अध्यक्ष भंवर लाल काला,पंचायती राज संयुक्त कर्मचारी महासंघ अध्यक्ष शंभू सिंह मेड़तिया, शिक्षक संघ राष्ट्रीय सुभाष विश्नोई, शिक्षक संघ युवा के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र जाखड़ सहित रेसला जिला अध्यक्ष नवीन देवड़ा, विक्रम सिंह बांवरला, प्रधानाचार्य चंद्रशेखर दुबे, कमलेश हुड्डा, इंद्रजीत चौधरी, सोनाराम चौधरी, देवेंद्र सिंह चौहान, बेला सैनी, प्रकाश भादू, बक्सा राम चौधरी,बैक युनियन पवन सोनी, इंदिरा चौधरी, लक्ष्मी चौधरी ने ट्विटर अभियान की सफलता के लिए संगठन के साथियों से आह्वान किया था।

प्रदेश महासचिव जगदीश यादव ने बताया कि भारत सरकार ने 1 जनवरी 2004 से शेयर बाजार आधारित नई पेंशन योजना शुरू की थी जो कर्मचारियों के पैसे के साथ ही सरकार के पैसे भी शेयर बाजार में डूबने का खतरा है इतना ही नहीं नई पेंशन योजना में रिटायर हो रहे कर्मचारियों को 1000 से 3000 पेंशन मिल रही है। जिससे सरकारी कर्मचारियों का बुढ़ापा तकलीफ देह हो गया है पूरे देश के 73 लाख कर्मचारी अब तक इस एनपीएस योजना के अंतर्गत आ चुके हैं राजस्थान के 5 लाख से अधिक कर्मचारी एनपीएस के अंतर्गत आते हैं।

आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु तथा प्रदेश अध्यक्ष कोजा राम सियाग ने सभी साथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इसी प्रकार पुरानी पेंशन के मुद्दे को लेकर संसद तथा विधानसभाओं से सड़क तक धरना तथा विरोध प्रदर्शन करके पुरानी पेंशन बहाल करवाई जाएगी। जिसके लिए राष्ट्रव्यापी महा आंदोलन किया जाएगा।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts