after-agreeing-to-the-demands-late-in-the-night-the-dead-bodies-were-handed-over-after-taking-action

देर रात मांगों पर सहमति के बाद शवों को कार्रवाई कर सौंपा

देर रात मांगों पर सहमति के बाद शवों को कार्रवाई कर सौंपा

जोधपुर,शहर के कीर्तिनगर अन्नसागर इलाके मेें 8 अक्टूबर हुए अवैध रूप से गैस रिफ्लिंग करते हादसे में दस लोगों की जान चली गई। सोमवार को तीन और लोगों की मौत के साथ आंकड़ा दस तक पहुंच गया। रविवार की रात में मकान मालिक भोमाराम के जीजा पारसराम की मौत हुई थी। अन्य तीन मृतक उसके पडौसी हैं। इन मृतकों के परिजन की तरफ से मंगलवार की रात तक शवों को नहीं उठाया गया। मगर देर रात उनकी मांगों पर सहमति और दस-दस लाख का मुआवजा दिए जाने के आश्वासन पर वे शांत हुए। आज सुबह माता का थान पुलिस ने कार्रवाई कर शव उनके परिजन के सुपुर्द कर दिए। यह लोग सरकारी नौकरी के साथ मुआवजा की मांग कर रहे थे।

after-agreeing-to-the-demands-late-in-the-night-the-dead-bodies-were-handed-over-after-taking-action-1

इस गैस विस्फोट कांड मेें भोमाराम की मां शोभादेवी, पत्नी सरोज, पुत्री कोमल,नीकू,पुत्र विक्की,उसका साला सुरेश लोहार की मौत पहले ही हो चुकी है। रविवार की रात को भोमाराम का बहनोई नागौर जिले मेड़ता स्थित जालोरा का रहने वाला 35 वर्षीय पारसराम पुत्र बाबूलाल की मौत हो गई। जबकि सोमवार को भोमाराम के पडौसी 35 वर्षीय अशोक जोशी पुत्र मूलाराम, निरमा पत्नी भागीरथ एवं अन्नराज की भी मौत हो गई। अब तक दस मौतें इस विस्फोट कांड में हो चुकी हैं। गत आठ अक्टूबर को मगरापूंजला स्थित अन्नासागर कीर्ति नगर में यह हादसा हुआ था।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts