आरोपी पत्नी व प्रेमी सहित तीन गिरफ्तार

आरोपी पत्नी व प्रेमी सहित तीन गिरफ्तार

पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

जोधपुर,आरोपी पत्नी व प्रेमी सहित तीन गिरफ्तार। फलोदी पुलिस ने नहर में संदिग्ध हालात में मिले एक युवक के शव के मामले का खुलासा कर दिया है। उसकी हत्या पत्नी ने ही करवाई थी। पत्नी ने फोन कर पति को पीहर बुलाया। पति आया तो पत्नी के प्रेमी ने उसे शराब पिलाकर नहर में धक्का मार दिया। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए महिला और उसके प्रेमी सहित 3 आरोपियों को मर्डर केस में गिरफ्तार किया है। मामला फलोदी में मतोड़ा थाना इलाके के बारू गांव का है।

इसे भी पढ़िए- कृषि पारिस्थितिकी तंत्र पर तीन दिवसीय कांफ्रेंस शुरू

फलोदी एसपी पूजा अवाना ने बताया कि पुलिस थाना मतोड़ा में कालूराम लोहार ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसका बेटा कोजाराम 21 फरवरी को घर से ससुराल बारू जाने का कहकर गया था। घर से जाने के बाद में शाम करीब सात बजे के बाद उससे कोई सम्पर्क नहीं हुआ। कोजाराम के ससुर उगाराम लोहार को फोन किया तो बताया कि दामाद ससुराल नहीं पहुंचा। पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी। इस पर पुलिस टीम का गठन किया गया। एएसआई जयमलराम और कॉन्स्टेबल भरमलराम ने लापता कोजाराम के घर से निकलने के बाद मोबाइल पर की गई वार्ता के संबंध में गहन जांच की गई। साथ ही थाना स्तर पर टीम बनाकर तलाश शुरू की। इस दौरान जानकारी मिली कि जैसलमेर के मोहनगढ़ में हल्का क्षेत्र में नहर में एक शव मिला। इसकी फोटो और वीडियो मंगवाकर जानकारी मांगी तो गुमशुदा कोजाराम के परिजनों ने उसकी पहचान की। इस पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। शव के नहर में क्षत विक्षत होने और शव की पहचान होने तक रखना नामुमकिन होने के कारण पोस्टमॉर्टम और डीएनए प्रोफाइल के बाद दाह संस्कार करवा दिया गया। इस दौरान मृतक कोजाराम के मोबाइल की फोन डिलेट निकाली तो संदिग्ध मोबाइल नंबर आसकंद्रा निवासी दशरथ मेघवाल और राठौड़ा रामदेवरा निवासी जयपालराम मेघवाल के निकलने पर उन्हें भारमसर जैसलमेर से दस्तयाब किया गया। पूछताछ में पता चला कि दशरथ के साथ कोजाराम की पत्नी ममता के अवैध संबंध थे। दोनों के संबंध में कोजाराम बाधा बन रहा था, इसलिए कोजाराम को रास्ते से हटाना चाहते थे।

इस तरह दिया वारदात को अंजाम
21 फरवरी को ममता ने फोन पर कोजाराम को बारू बुलाया। कोजाराम अपने ससुराल बारू जाने के लिए घर बापिणी से रवाना हो गया। कोजाराम के घर से रवाना होने की सूचना उसकी पत्नी ममता ने अपने प्रेमी दशरथ को कर दी। इसके बाद दशरथ भारमसर से अपने साथी जयपालराम मेघवाल को लेकर बाइक से फलोदी आया। यहां पर कोजाराम, दशरथ और जयपालराम तीनों मिले। फलोदी से दशरथ और जयपालराम कोजाराम को लेकर नाचना पहुंचे जहां पर उसको शराब पिलाई और बाद में दशरथ ने कोजाराम को पानी लाने के बहाने नहर के पास भेजा। जब कोजाराम पानी लेने के लिए नहर मे से बोतल भरने लगा, तब दशरथ ने कोजाराम को धक्का देकर नहर में गिरा दिया। इससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि पूरी घटना की मास्टरमाइंड कोजाराम की पत्नी ममता थी जिसमें पूरी तरह से उसका प्रेमी दशरथ साथ था। ममता के कहने से ही उसके प्रेमी दशरथ और जयपालराम ने घटना को अंजाम दिया। इस घटना में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

कार्रवाई में थानाधिकारी अचलाराम ढाका,टीम सहायक उप निरीक्षक जयमलराम,कॉन्स्टेबल भरमलराम,सुनील डारा, पीथाराम,किशनाराम और मोहनगढ़ पुलिस के सहायक उप निरीक्षक जालम सिंह और कॉन्स्टेबल शंभू सिंह शामिल थे।

ईंट भट्टे पर शुरू हुई प्रेम कहानी
कोजाराम की शादी सात साल पहले ममता से हुई थी,लेकिन ममता मजदूरी के सिलसिले में जैसलमेर में ही अपनी मां के साथ रहते हुए मजदूरी करती थी। इसी दरम्यान वर्ष 2020 में दशरथ के साथ हुई मुलाकात प्यार में बदल गई। दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और यही पसंद अवैध संबंध में बदल गए। जिसके बाद प्यार का सिलसिला ऐसे आगे बढ़ा कि ममता ने प्रेमी दशरथ के साथ रहने की चाहत में अपने ही पति कोजाराम को ठिकाने लगाने का फैसला कर लिया और साजिश को बाकायदा अंजाम तक भी पहुंचा दिया लेकिन प्यार में अंधी ममता की साजिश ने उसके दो मासूम बच्चों से बाप का साया छीन लिया। मृतक अचलाराम व ममता के दो पुत्र है। बड़ा बेटा करीब छह साल का है, तो दूसरा महज तीन माह का ही है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन यहां से इंस्टॉल कीजिए https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts