third-phase-of-lift-canal-started

लिफ्ट कैनाल का तीसरा चरण आरंभ

मुख्य अभियंता ने किया निरीक्षण

जोधपुर,राजीव गांधी लिफ्ट नहर तृतीय चरण परियोजना के अंतर्गत मुख्य अभियंता परियोजना नीरज माथुर द्वारा पाइप लाइन निर्माण कार्य का निरीक्षण किया गया। माथुर ने संवेदक को पाइप डालने के कार्य को शीघ्र प्रारंभ करने एवं इसकी क्रियान्विति के लिए मासिक एक्शन प्लान तैयार करने के निर्देश दिए।

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग परियोजना वृत जोधपुर के अधीक्षण अभियंता भंवराराम चौधरी ने बताया कि संवेदक फर्म द्वारा स्टील पाइप की सप्लाई प्रारम्भ कर दी गई है एवं अब तक राजीव गांधी लिफ्ट केनाल की बुर्जी संख्या 58 के समीप स्थापित पाइप यार्ड में 8.8 किलोमीटर के पाइप की सप्लाई प्राप्त कर ली गई है। पाइपों के भीतरी सतह पर सीमेंट मोर्टार लाइनिंग एवं बाहरी सतह पर गनाईटिंग का कार्य पाइप यार्ड में किया जा रहा है। वर्तमान में 5.5 किलोमीटर लाइनिंग का कार्य कर लिया गया है। पाइप निर्माण फैक्ट्री साइट के समीप ही स्थापित करने से स्थानीय लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है।

ये भी पढ़ें- लोकतांत्रिक शासन व्यवस्था की आत्मा है संविधान-जस्टिस माथुर

करोड़ों की लागत आएगी

उन्होंने बताया कि इस योजना के कार्यो को क्रियान्वित करने के लिए योजना की लागत राशि में 1799 करोड़ में राज्य सरकार का 1275.83 करोड़,अमृत 2.0 का 425.27 करोड़, रीको का 96.90 करोड़, दिल्ली-मुम्बई औद्योगिक कोरिडोर का 1 करोड़ हिस्सा है। उन्होंने बताया कि परियोजना में 213 किलोमीटर लंबाई की स्टील की 2 मीटर व 1.8 मीटर व्यास की बड़ी साइज की पाइप लाइन मदासर गांव के पास प्रस्तावित एस्केप रिजर्वायर से जोधपुर तक वर्तमान राजीव गांधी नहर के साथ साथ लगाई जाएगी। इसमें कुल चार उच्च क्षमता के पंप हाउस भी बनाए जाएंगे।

2054 तक की शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल मांग की पूर्ति होगी

चौधरी ने बताया कि योजना के क्रियान्वयन के बाद वर्तमान राजीव गांधी नहर को साथ में उपयोग करते हुए वर्ष 2054 तक की शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल मांग की पूर्ति हो सकेगी। योजना से जोधपुर शहर, फलोदी,पीपाड़,बिलाड़ा,भोपालगढ़ व समदड़ी कस्बे व जोधपुर जिले के 1830 गांव, बाड़मेर के 211 गांव, पाली के 126 गांव,कुल 2167 गांवों को लाभान्वित किया जा सकेगा। इनके अलावा योजना में रोहट में प्रस्तावित डीएमआईसी की भी 60 एमएलडी मांग भी सम्मिलित की गई है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews