पीडि़ता ने दिए पुलिस में बयान, पुलिस ने देखा मौकास्थल

पीडि़ता ने दिए पुलिस में बयान, पुलिस ने देखा मौकास्थल

सोमवार को कोर्ट में मजिस्ट्रेट बयान के लिए लगाई जाएगी अर्जी

जोधपुर, शहर में उम्मेद क्लब में बाथरूम में शॉवर लेने गई किशोरी का न्यूड वीडियो के प्रकरण में पुलिस ने शनिवार को पीडि़ता के बयान कलमबद्ध किए। इसके साथ ही पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण भी किया। सोमवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान को लेकर अर्जी लगाई जाएगी। पुलिस ने इस गंभीर प्रकरण पर तफ्तीश आरंभ की है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

उदयमंदिर थानाधिकारी अमित सिहाग ने बताया कि पीडि़त किशोरी के बयान लिए गए है। शुक्रवार को वह बीमारी की हालत में थी, ऐसे में उसके बयान नहीं हो पाए। आज बयान लिए जाने के साथ ही मौका तस्दीक की गई। सोमवार के बाद मजिस्ट्रेट बयान करवाए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि 17 साल की एक किशोरी 24 अप्रैल को उम्मेद क्लब में स्वीमिंग के लिए गई थी। स्वीमिंग के बाद में वह शॉवर लेने बाथरूम में गई। वह अपना कॉस्टयूम बदलने लगी तब उसे पता लगा कि कोई ऊपर से वीडियो बना रहा है। तब वह तत्काल बाहर आई। इस पर एक व्यक्ति आकाश चौपड़ा को वहां से भागते पकड़ा। किशोरी ने मोबाइल छीनने का प्रयास किया तो आकाश चौपड़ा फोन से कुछ संदिग्ध को मिटाने लगा। वहां पर वक्त घटना कुछ और लोग भी खड़े थे। किशोरी ने इस बीच अपनी मां को बुलाया। तब वहां पर मौजूद कुछ लोगों ने समझाइश का प्रयास किया। इस बीच पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया।

किशोरी और उसकी मां पर दबाव बनाते हुए कहा कि क्लब की इज्जत का सवाल है। तब उन लोगों ने आकाश चौपड़ा से उसका मोबाइल ले लिया। रिपोर्ट के अनुसार मामले को रफादफा करने के लिए क्लब के प्रेसिडेंट हंसराज बाहेती, सदस्य दीपक गहलोत,अर्पित मोदी, दीपक भाटी आदि ने दबाव बनाने के साथ राजीनामा करने को कहा। 25 को किशोरी और उसकी मां को क्लब में बुलाया गया और कहा कि वह खुद बिना सदस्यता के वहां पर आई थी।
इस पर पीडि़त किशोरी ने कहा कि वह अपनी सहेली के मेंबरशिप के स्थान पर आई थी। इस बीच इन लोगों ने आकाश चौपड़ा का मोबाइल लेकर एक लिफाफे में डाल दिया और कहा कि कमेटी जांच करेगी। फोन आकाश चौपड़ा को नहीं दिया जाएगा।

किशोर के साथ आरोपी आकाश चौपड़ा की पत्नी और ससुर कमलेश तातेड़ भी वहां आए थे और मां बेटी से झगड़ा करने लगे थे। 26 अप्रैल को किशोरी की मां ने क्लब अध्यक्ष हंसराज बाहेती से जानकारी चाही तो वे किशोरी की बिना मेंबरशिप वहां पर आने के लिए आपत्ति की बात करने लगे। आरोप है कि क्लब अध्यक्ष और अन्य ने मिलकर बाद में फोन भी आकाश चौपड़ा को दे दिया। किशोरी ने क्लब द्वारा न्याय नहीं किए जाने और धमकी मिलने पर खुद को असुरक्षित महसूस किया और 28 अप्रैल को उदयमंदिर थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाई।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews