बड़ा रामद्वारा बरसी उत्सव में सत्संग शुरू

बड़ा रामद्वारा बरसी उत्सव में सत्संग शुरू

जोधपुर,बड़ा रामद्वारा बरसी उत्सव में सत्संग शुरू। मारवाड़ के संतों की तपोभूमि के रूप में विश्वविख्यात बड़ा रामद्वारा में सत्संग समारोह का आयोजन किया जा रहा है। बड़ा रामद्वारा के गादीपति रामप्रसाद महाराज की देखरेख में यह बड़ा आयोजन किया जा रहा है। एक माह तक यह बरसी उत्सव सत्संग समारोह इसी तरह प्रतिदिन मनाया जाएगा। प्रतिदिन दोपहर 12.30 बजे से दोपहर 3.30 बजे तक सत्संग का आयोजन होगा। खेडापा पीठाचार्य पुरूषोत्तम दास के सान्निध्य में यह पूरा आयोजन हो रहा है। बडा रामद्वारा की अभय सत्संग मंडप में यह आयोजन किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें – बच्चों की स्कूल फीस जमा करवाने जा रहे ग्रामीण को लूटा

बड़ा रामद्वारा के गादीपति रामप्रसाद ने बताया कि संसार में जितने भी लोग है उनका जन्मदिवस मनाया जाता है लेकिन संतो की पुण्यतिथि मनाई जाती है। संत कभी मरते नही हैं। जीव कल्याण के लिए सदा इस धरा धाम पर विद्धमान रहते हैं। पुण्यतिथि आती है तो उसको वरसी उत्सव के रूप में प्रतिवर्ष इसी तरह से मनाया जाता है। इस पावन महीने में इस परपंरा के जितने भी महापुरूष हुए उन सभी की पुण्य दिन के अवसर पर वरसी महोत्सव मनाया जाता है। एक महीने तक यहां विशेष सत्संग का इसी तरह से आयोजन होता है जिसमें बाहर से संत आते है और संतो की सेवा और सत्संग का लाभ भक्तों को मिलता है।

यह भी पढ़ें – ग्राहक को 25 हजार रुपए जुर्माना अदा करने के आदेश

संत डॉ.रामप्रसाद ने बताया कि राम स्नेही सम्प्रदाय खेड़ापा के वर्तमान पीठाचार्य पुरुषोत्तमदास के सान्निध्य शुरू हुआ बरसी उत्सव व सत्संग समारोह 25 जनवरी तक आयोजित किया जाएगा। समारोह के तहत होने वाले अखंड नामजप,संतवाणी पाठ, श्रीमद् भागवत कथा,संतवाणी आधारित सत्संग के आयोजन किए जा रहे हैं। बड़ा रामद्वारा परिसर में अभय सत्संग मंडप पांडाल तैयार किया गया है।उत्सव के प्रथम सप्ताह में 30 दिसम्बर को ब्रह्मलीन विरक्त संत परसराम और संत हरसुखदास का बरसी उत्सव मनाया जाएगा। इसके बाद दो जनवरी को परमहंस रामबल्लभ,चार जनवरी को परमहंस अभयराम,सात जनवरी को परमहंस सम्पतराम व मोहनदास,11 जनवरी को परमहंस मोहब्बतराम और 18 जनवरी को परमहंस सेवगराम व सुबदराम का बरसी उत्सव मनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें – राज्यपाल मिश्र एक दिवसीय यात्रा पर जोधपुर पहुंचे

संत नृसिंहदास ने बताया कि आज से भागवत कथा का आयोजन शुरू हुआ जिसका वाचन प्रतिदिन डॉ.रामप्रसाद करेंगे। इसके अलावा परसराम की अनुभव वाणी का सत्संग 3 से 11 जनवरी,परसराम की परची की कथा 12 से 16 जनवरी, श्रीरामचरितमानस का सामूहिक नवाह्न पारायण पाठ 17 से 25 जनवरी और संतों की अनुभव वाणी का पाठ प्रतिदन सुबह नौ से दस बजे तक होगा।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts