sale-of-local-products-started-in-state-of-the-art-kiosks

अत्याधुनिक कियोस्क में प्रारंभ हुई स्थानीय उत्पादों की बिक्री

एक स्टेशन एक उत्पाद योजना

जोधपुर,उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल के विभिन्न स्टेशनों पर एक स्टेशन एक उत्पाद योजना के बेहतरीन क्रियान्वयन के उद्देश्य से बनवाए गए अत्याधुनिक और स्थाई कियोस्क लगभग बन कर तैयार हैं तथा स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए लघु उद्यमियों को आवंटित करने की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है।

मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने बताया कि रेलवे बोर्ड के दिशा निर्देशानुसार एक स्टेशन एक उत्पाद योजना को व्यवस्थित तरीके से लागू करने की दिशा में जोधपुर मंडल के 15 चुनिंदा स्टेशनों पर 80 लाख रुपए की लागत से 16 अत्याधुनिक कियोस्क बनवाए जा रहे हैं जिनमें से अधिकांश बन कर तैयार हो चुके हैं और स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए स्थानीय लघु उद्यमियों को रेलवे नियमानुसार निर्धारित अवधि के लिए आवंटित करने का काम भी प्रारंभ कर दिया गया है।

sale-of-local-products-started-in-state-of-the-art-kiosks

उन्होंने बताया कि जोधपुर रेलवे स्टेशन पर दो नए कियोस्क बन कर पूरी तरह से तैयार है तथा इन्हें स्थानीय उत्पादों को मोजड़ी और खादी निर्मित गलीचे और दरी की बिक्री के लिए आवंटित भी कर दिया गया है। इसी प्रकार पाली रेलवे स्टेशन पर भी अत्याधुनिक कियोस्क पर पाली का प्रसिद्ध गुलाब हलवा बिक्री के लिए रेल यात्रियों के लिए उपलब्ध कराया गया है। अन्य रेलवे स्टेशनों पर भी इनका निर्माण तेजी से किया जा रहा है जिससे लघु उद्यमी अपने क्षेत्र के स्थानीय उत्पाद रेल यात्रियों में बिक्री के लिए इनमें प्रदर्शित कर सकेंगे। योजना के तहत जोधपुर, जैसलमेर,पाली मारवाड़,भगत की कोठी,नागौर,बाड़मेर,नोखा,मेड़ता रोड, जालोर,डीडवाना, फलोदी, मकराना, सुजानगढ़, लाडनूं और रामदेवरा स्टेशनों को चिन्हित किया गया है जहां अत्याधुनिक कियोस्क की स्थापना की जा रही है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें-http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews