जोधपुर रेल मंडल पर टेंडर की जगह अब ई-नीलामी की तैयारी

जोधपुर रेल मंडल पर टेंडर की जगह अब ई-नीलामी की तैयारी

जोधपुर, रेलवे में निविदा प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाने के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा शुरू की गई टेंडर की जगह ई-नीलामी के लिए पायलट परियोजना शीघ्र ही उत्तर-पश्चिम रेलवे के जोधपुर मंडल पर भी प्रारम्भ होगी । मंडल पर अब निविदा की प्रक्रिया सरकार के ई-आक्शन प्लेटफार्म पर ई-नीलामी के माध्यम से ही पूरी की जाएगी इसके लिए इससे जुड़ी तैयारियां तेज की गई हैं। भारतीय रेल के ग्यारह रेल मंडलों पर यह परियोजना शुरू कर दी गई है।

मंडल रेल प्रबंधक गीतिका पांडेय ने बताया कि मंडल पर वाणिज्यिक आय और गैर किराया राजस्व संबंधित अनुबंधों को ई-आक्शन के माध्यम से पूरा करने का निर्णय लिया गया है। नई व्यवस्था के तहत निविदा के स्थान पर ई-नीलामी का प्रावधान किया गया है ताकि अधिक से अधिक इच्छुक व्यक्ति और फर्म इसमें भाग ले सकें। इच्छुक व्यक्ति,फर्म व संस्था आइआर इपीएस वेबसाइट पर ई-नीलामी की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि ई-नीलामी में भाग लेने वाले बोलीदाता की आवश्यक योग्यता उसका वित्तीय टर्न ओवर होगा, साथ ही स्वघोषित दस्तावेज भी अपलोड करना होगा। इसके लिए वन टाइम रजिस्ट्रेशन आइआरइपीएस वेबसाइट पर करानी होगी। इसके तहत कोई भौगोलिक बाध्यता भी नहीं होगी।

डीआरएम ने बताया कि ई-नीलामी की पायलट परियोजना में पार्सल स्थान,पार्किंग स्थल और वाणिज्यिक प्रचार के पट्टे के अनुबंधों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।इसके तहत किसी भी अनुबंध के विफल होने की स्थिति में उसे त्वरित रूप से फिर से किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि भारतीय रेलवे के मुंबई,आसनसोल, दिल्ली,लखनऊ(उत्तर रेलवे), लखनऊ(पूर्वोत्तर रेलवे), वाराणसी, चेन्नई, सिकंदराबाद, बेंगलुरू व अहमदाबाद मंडलों पर ई-नीलामी की पायलट परियोजना आरम्भ की जा चुकी है।

ई-नीलामी के लाभ

– सरल व पारदर्शी प्रक्रिया

– देशभर के बोलीदाताओं की भागीदारी

– टेंडर प्रक्रिया में लगने वाले समय में बचत

– डिजिटलाइजेशन को प्रोत्साहन

– माध्यम व लघु उद्यमियों को प्रोत्साहन

इनका कहना है

रेलवे बोर्ड से प्राप्त दिशा-निर्देशों की पालना में जोधपुर मंडल पर भी टेंडर की जगह ई-नीलामी की पायलट परियोजना शुरू की जाएगी और इसके लिए सभी बंदोबस्त किए जा रहे हैं। इसमें सरल पात्रता संबंधी मापदंड अपनाए गए हैं और नीलामी की तारीख वाले दिन व्यक्ति,फर्म और संस्था एक साथ भाग ले सकेंगे।

-जितेंद्र मीणा
सीनियर डीसीएम,जोधपुर।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews