नेशनल लंगड़ी चैंपियनशिप 26 मार्च से

नेशनल लंगड़ी चैंपियनशिप 26 मार्च से

  • सूर्यनगरी में होगा भारत के खिलाड़ीयों का समागम
  • राष्ट्रीय प्रतियोगिता के भव्य आयोजन की तैयारियां जोरों पर
  • 15 प्रदेशों की टीमें, 900 खिलाड़ी लेंगे हिस्सा

जोधपुर, सूर्यनगरी जोधपुर जिले में 26 मार्च से राष्ट्रीय लंगड़ी खिलाड़ियों का समागम होगा। इस प्रतियोगिता में देश भर के15 प्रदेशों से पुरूष-महिला खिलाड़ी 12वीं सीनियर एवं बालक-बालिका 11वीं सब जूनियर खिलाड़ी राष्ट्रीय लंगड़ीे चैम्पियनशिप में हिस्सा लेंगे। प्रतियोगिता में लगभग 225 पुरूष और 225 महिलाएं, 225 बालक और 225 बालिका खिलाड़ी अपना दमखम दिखाएंगे।

राजस्थान लंगड़ी एसोसिएशन के अध्यक्ष हुकमाराम चौधरी ने बताया कि लंगड़ी फेडरेशन ऑफ इंडिया और राजस्थान लंगड़ी संघ के तत्वावधान में राज्य लंगड़ी संघ द्वारा प्रथम बार लंगड़ी गेम की राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता जोधपुर में आयोजित हो रही है। जिसके चलते राजस्थान के खिलाड़ियों को गेम की बारिकियों को समझने का मौका मिलेगा। संघ के सचिव भूराराम चौधरी ने बताया कि जोधपुर में राजस्थान लंगड़ी संघ द्वारा राष्ट्रीय प्रतियोगिता के भव्य आयोजन की तैयारियां आरंभ कर दी हैं।

फेडरेशन द्वारा खेल आयोजन की सारी जानकारीयां भेजी जा चुकी है श्रीसरस्वती बाल वीणा भारती शिक्षण संस्थान सिरोला बेरा, सूरसागर के खेल प्रांगण में आयोजित होने वाली इस नेशनल प्रतियोगिता में भाग लेने को देश के मशहूर लंगड़ी खिलाड़ी शिरकत करेंगे। अब तक 15 से अधिक राज्यों के पुरूष-महिला टीमों की एवं 15 से अधिक राज्यों की बालक-बालिका टीमों की स्वीकृति आ चुकी है। प्रतियोगिता के लिए आयोजन समिति चेयरमैन विशाल सांखला,अध्यक्ष सुमेराराम,सचिव गणपत चौधरी रहेंगे। संघ द्वारा नेशनल प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिए विभिन्न कमेटीयों का गठन किया गया इनमें आयोजन समिति,आवास,भोजन,तकनीकी एवं परिवहन समिति आदि का गठन कर व्यवस्था की जा रही है।

नेशनल लंगड़ी फेडरेशन सचिव सुरेश गांधी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष खेल प्रतियोगिता में मौजूद रहेंगे। प्रतियोगिता के सफल आयोजन की तैयारियां को अंतिम रूप देने के लिए राजस्थान लंगड़ी संघ एवं जोधपुर जिला लंगड़ी संघ की 25 मार्च को बैठक आयोजित की जाएगी। विभिन्न संगठनों से प्रतियोगिता को सफल बनाने का आहवान किया जाएगा। पुलिस प्रशासन, परिवहन विभाग, चिकित्सा विभाग से विशेष सहयोग की अपेक्षा की जाएगी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews