मकर संक्रांति 15 जनवरी को

मकर संक्रांति 15 जनवरी को

अब मकर संक्रांति सन 2081 तक 15 जनवरी को ही होगी

जोधपुर,संक्रांति काल का अर्थ है एक से दूसरे में जाने का समय।अधिकांश लोग हमेशा से 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाते आ रहे हैं,इसलिए हमें इस बार मकर संक्रांति का 15 जनवरी को होना कुछ विचित्र सा लग सकता है लेकिन अब मकर संक्रांति सन 2081 तक 15 जनवरी को ही होगी।
शनिधाम शास्त्री नगर के महंत व शिव मंडल जोधपुर के अध्यक्ष पंडित हेमंत बोहरा ने बताया जैसा कि हम सब जानते हैं कि सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश (संक्रमण) का दिन “मकर संक्रांति” के रूप में जाना जाता है।ज्योतिषविदों के अनुसार प्रतिवर्ष इस संक्रमण में 20 मिनट का विलंब होता जाता है। इस प्रकार तीन वर्षों में यह अंतर एक घंटे का हो जाता है तथा 72 वर्षो में यह फर्क पूरे 24 घंटे का हो जाता है।

यह भी पढ़ें – टैंकर में मिला 2.78 करोड़ का अवैध डोडा पोस्त

सायं 4 बजे के बाद संध्याकाल माना जाता है और भारतीय ज्योतिष विज्ञान के अनुसार संध्या काल के बाद सूर्य से सम्बंधित कोई भी गणना उस दिन न करके अगले दिन से की जाती है।इस हिसाब से वास्तव में मकर संक्रांति सन 2008 से ही 15 जनवरी को हो गई थी लेकिन सूर्यास्त के पहले का समय होने के कारण 14 जनवरी को ही मकर संक्रांत मानते आ रहे थे। सन 2023 में संक्रांति का समय 14 जनवरी की रात्रि को 9:35 का है, अर्थात तब सूर्यास्त हो चुका होगा, इसलिए 15 जनवरी को ही मकर संक्रांति मनाई जाएगी।

यह भी पढ़ें – जुआ खेलते एक गिरफ्तार,40 हजार बरामद

वैसे तो 72 साल की रेंज में संक्रांति चक्र एक दिन बढ़ जाता है।सन 275 में मकर संक्रांति 21 दिसम्बर को हुआ करती थी जो कि अब सन 2023 आते-आते 15 जनवरी तक आ गयी है। सन 1935 से सन 2008 तक मकर संक्रांति 14 जनवरी को रही और सन 1935 से पहले 72 साल तक यह 13 जनवरी को रही थी।
इन बातों को जानकार हमें अपने पूर्वजों पर गर्व करना चाहिए कि
ब्रह्माण्ड की गणना को सैद्धांतिक रूप में लिपिबद्ध किया।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts