कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को देखते हुए जिला कलेक्टर ने की एडवाइजरी जारी

कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को देखते हुए जिला कलेक्टर ने की एडवाइजरी जारी

  • नो वैक्सीन,नो सर्विस अभियान से टीकाकरण को प्रोत्साहित किया जायेगा
  • वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगी होने पर सेवा प्रदाता सेवा देने से मना कर सकता है

जोधपुर, जिला कलेक्टर व जिला आपदा प्राधिकरण अध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह ने कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को देखते हुए बचाव व जागरुकता के लिए एडवाइजरी जारी की है।

कोविड-19 की दोनों डोज लगाना जरुरी

जिला कलेक्टर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न रिपोर्ट के अनुसार जिन व्यक्तियों को कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज लगी है, उनमें संक्रमण की सम्भावना काफी कम होती है एवं संक्रमण की रोकथाम के लिए समस्त पात्र व्यक्तियों को वैक्सीन की दोनों खुराक लगाया जाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के कवरेज को बढाये जाने के लिए आईईसी का योगदान महत्वपूर्ण है। जिन्होंने टीकाकरण नहीं करवाया है उन्हें अनिवार्य श्रेणी में रख कर ऐसे व्यक्तियों का टीकाकरण करवाया जाए।

‘‘नो वैक्सीन, नो सर्विस के लिए’’ अभियान चलाये

जिला कलेक्टर ने कहा कि कोविड- 19 वैक्सीन की दोनों खुराक की कवरेज बढ़ाने के लिए विभागीय प्रावधानों के तहत नो वैक्सीन, नो सर्विस का अभियान चलाकर टीकाकरण को प्रोत्साहित किया जाए। वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगी होने पर सेवा प्रदाता सेवा देने से मना कर सकता है। कई ऐसे स्थान जहाँ आमजन की आवाजाही ज्यादा रहती है या बंद परिवेश हो एवं वस्तुओं का हस्तातंरण अधिक रहता है, वहां संक्रमण के प्रसार की सम्भावना रहती है। उन्होंने कहा कि सरकारी, निजी कार्यालय,शाॅपिंग माॅल,दुकाने, होटल, रेस्टाॅरेन्ट,सिनेमा हाॅल,स्कूल काॅलेज, कोचिंग संस्थान, सार्वजनिक यातायात स्थल, बस, सिटी बस, एयरपोर्ट, रेल्वे स्टेशन, बस स्टेण्ड स्थलों पर यह सुनिश्चित हो कि वहाँ आने वाले व्यक्तियों के वेक्सीन की दोनों खुराक लगी हो।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन की खुराक नहीं लगी तो सेवा प्रदाता सेवाएं देने से मना कर सकता है। इससे टीकाकरण की कवरेज को बढ़ाया जा सके एवं संक्रमण के प्रसार पर रोकथाम लगाई जा सके। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि सेवा प्रदाता संस्थान के सभी कार्मिकों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका हो व इसकी सूचना संस्थान, कार्यालय, वाहन के सहज दृश्य स्थल पर चस्पा कर दी गयी है। संस्थान संचालको से अपेक्षा की जायेगी कि वे अपने संस्थान, प्रतिष्ठान के बाहर ‘‘नो मास्क, नो एन्ट्री’’ या ‘‘बिना टीका, सेवा रा मजा फीका’’ के पेम्पलेट भी लगवाएंगे, जिसमें टीकाकरण अभियान को एक जन आन्दोलन बनाया जा सके।

ये करेंगे माॅनिटरिंग

जिला कलेक्टर ने बताया कि इस कार्य के लिए नगर-निगम, जेईटी, पुलिस, इंसिडेंट कमान्डर,उपखण्ड अधिकारी द्वारा निरन्तर माॅनिटरिंग की जायेगी व निर्देशों की अवेहलना करने वालों पर कार्यवाहीं सुनिश्चित की जायेगी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews