महाराष्ट्र के पूर्व मुख्य मंत्री मनोहर जोशी का निधन

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्य मंत्री मनोहर जोशी का निधन

  • जोशी लोकसभा अध्यक्ष भी रहे
  • हिंदुजा अस्पताल में शुक्रवार सुबह अंतिम सांस ली
  • 86 वर्षीय जोशी को बुधवार को दिल का दौरा पड़ा था

मुंबई,महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवसेना नेता व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी का आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया,वे 86 वर्ष के थे। उन्होंने मुंबई के पीडी हिंदुजा अस्पताल में शुक्रवार सुबह अंतिम सांस ली। उन्हें बुधवार को हार्ट अटैक आया था तब उन्हें हिंदुजा अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। जहां शुक्रवार सुबह 3 बजकर 2 मिनट पर उनका निधन हुआ। उनका पार्थिव शरीर माटुंगा रूपारेल कॉलेज के पास स्थित उनके निवास पर सुबह 11 बजे से दोपहर दो बजे तक आखिरी दर्शन के लिए रखा गया। दोपहर दो बजे के बाद दादर शमशान भूमि में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

पूरी कहानी यहां पढ़ें- कभी खाते में रुपए जमा होते तो कभी पार हो जाते,आखिर में एक लाख पार

मनोहर जोशी ने एक टीचर के रूप में अपना करियर शुरू किया था। वे 1967 में राजनीति में आए तथा 40 साल से ज्यादा समय तक शिवसेना से जुड़े रहे। 14 मई 1964 को अनघा जोशी से उनका विवाह हुआ। जिनसे उनका एक बेटा उन्मेष और दो बेटियां अस्मिता और नम्रता हैं। 2020 में अनघा जोशी का 75 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। जोशी की नातिन शरवरी वाघ (नम्रता की बेटी) फिल्मी कलाकार हैं।

उनके निधन पर देश भर के नेताओं ने शोक संवेदना व्यक्त की है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने × पर लिखा कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष,वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी सर के निधन का समाचार सुनकर अत्यंत दुःख हुआ। सर के निधन से महाराष्ट्र की राजनीति का सभ्य चेहरा खो गया है।  हमने एक ऐसा नेता खो दिया है जो बेहद विनम्र, हाजिर जवाबी और महाराष्ट्र के साथ-साथ मराठी मानुष के प्रति भावुक था। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने भी मनोहर जोशी के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने व्यक्त की शोक संवेदना
राज्यपाल कलराज मिश्र ने महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री एवं लोक सभा के पूर्व अध्यक्ष मनोहर जोशी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। राज्यपाल मिश्र ने कहा कि स्व.जोशी संसदीय परंपराओं और मूल्यों में आस्था रखने वाले राजनीतिज्ञ थे। सार्वजनिक जीवन में आम जन के विकास के लिए किए उनके कार्य सदा याद किए जाएंगे। राज्यपाल ने ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति और उनके परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना की है।

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने व्यक्त की संवेदना
मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष एवं महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि लोक सभा अध्यक्ष रहते हुए स्व.जोशी ने लोकतांत्रिक मूल्यों को समृद्ध बनाते हुए श्रेष्ठ संसदीय परंपराएं स्थापित की। मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में भी स्वर्गीय जोशी अपने मृदु व्यवहार और मिलनसारिता की प्रवृति के कारण सदैव याद किए जायेंगे। उनका निधन महाराष्ट्र और देश की राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री शर्मा ने दिवंगत पुण्यात्मा को अपने परम धाम में स्थान देने व शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन यहां से इंस्टॉल कीजिए https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts