effective-implementation-of-scheduled-caste-welfare-schemes-haldar

अनुसूचित जाति कल्याण योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन करें – हालदार

जोधपुर, राष्ट्र्रीय अनुसूचित जाति आयोग नई दिल्ली के उपाध्यक्ष अरुण हालदार ने सामाजिक खुशहाली एवं तरक्की के लिए समाज में जागरुकता लाने तथा सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों से जरूरतमन्दों को लाभान्वित कर उनका जीवनस्तर सुधारने में सहभागिता निभाने का आह्वान किया है और कहा कि जागरुकता एवं आत्मनिर्भरता से ही लोक कल्याण एवं सामुदायिक उत्थान का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

आयेाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अरुण हालदार ने गुरुवार को जोधपुर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संभागस्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए जोधपुर संभाग के अधिकारियों से यह आह्वान किया। बैठक में संभागीय आयुक्त कैलाशचंद्र मीना,आईजी पुलिस पी. रामजी,पुलिस आयुक्त रवि दत्त गौड़,जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता,अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ओपी विश्नोई सहित संभागस्तरीय एवं जोधपुर संभाग के विभिन्न जिलों के प्रशासनिक, पुलिस एवं विभागीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

लोकसेवा की भावना से निभाएं दायित्व

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने अधिकारियों से कहा कि गरीब, उपेक्षित एवं जरूरतमन्द तबके के लोगों तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाकर अपनी सामाजिक जिम्मेदारियां अच्छी तरह निभाएं और समाज का ऋण चुकाने को समर्पित होकर सेवाव्रत की भावना से आगे आएं। इससे जो आत्मसंतुष्टि प्राप्त होगी, उसका कोई मुकाबला नहीं।

आयोग उपाध्यक्ष ने अनुसूचित जाति के शैक्षिक विकास और सामाजिक उत्थान के लिए संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए गंभीरतापूर्वक प्रयास करने और अधिक से अधिक पात्र एवं जरूरतमंदों को लाभान्वित करने के निर्देश संभाग स्तरीय अधिकारियों को दिए।

समय पर दें राहत

उन्होंने विभिन्न विभागों द्वारा अनुसूचित जाति समुदाय के लिए संचालित गतिविधियों की जानकारी ली। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने अनुसूचित जाति से संबंधित प्रकरणों को गंभीरता से लेने और पीडि़तों को तात्कालिक सहायता राशि उपलब्ध करा कर राहत देने तथा पूरी संवेदनशीलता के साथ कार्य करने के निर्देश दिए।

समुदाय से संवाद कायम करें

उन्होंने पुलिस अधिकारियों को सुझाव दिया कि सप्ताह में एक दिन समय निकाल कर अनुसूचित जाति समुदाय सहित आम जन से संवाद स्थापित करें और शिविर लगाकर चर्चा करने की पहल करें। इससे कई समस्याओं का स्वत: समाधान संभव है। पुलिस आयुक्त रविदत्त गौड़ एवं पुलिस आईजी पी.रामजी ने अनुसूचित जाति से संबंधित मामलों में पुलिस की त्वरित कार्यवाही और अनुसंधान के बारे में पुलिस प्रशासन की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी।

समस्याओं को सुना, दिए समाधान के निर्देश

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने इस दौरान अनुसूचित जाति वर्ग से संबंधित संभाग के विभिन्न जिलों से आए सामाजिक प्रतिनिधियों की समस्याओं को सुना तथा इनके बारे में संबंधित जिलों के प्रशासनिक,विभागीय एवं पुलिस अधिकारियों से तथ्यात्मक जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews