लिंंग भ्रूण जांच का आरोपी डॉ. इम्तियाज पांचवी बार पकड़ा गया

लिंंग भ्रूण जांच का आरोपी डॉ. इम्तियाज पांचवी बार पकड़ा गया

  • पीसीपीएनडीटी सेल जयपुर व
  • जोधपुर टीम की संयुक्त कार्यवाही में रंगे हाथों दबोचा

जोधपुर, बालिका भ्रूण हत्या रोकने व लिंगानुपात बढ़ाने के लिए राज्य पीसीपीएनडीटी टीम द्वारा भ्रूण लिंग परीक्षण करने वालों पर लगातार कार्यवाही करते हुए आरोपियों पर कानूनी शिकंजा कसने का कार्य कर रही है। इसी के तहत शुक्रवार को पीसीपीएनडीटी सेल जोधपुर टीम की सूचना पर जोधपुर में बड़ी डिकॉय कार्यवाही को अंजाम देते हुये लिंग भ्रूण जांच के सरगना डॉ. इम्तियाज खान को पांचवी बार अवैध अपंजीकृत पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन (मोबाइल मशीन) से एक घर में भ्रूण लिंग परीक्षण करते हुये दलाल व एक अन्य सहित तीन को गिरफ्तार किया।

लिंंग भ्रूण जांच का आरोपी डॉ. इम्तियाज पांचवी बार पकड़ा गया

मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी जोधपुर डॉ. बलवंत मंडा ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर जोधपुर पीसीपीएनडीटी टीम काफी समय से इस सरगना पर नजर बनाए हुए थे। मुखबिर की सूचना की पुष्टि होने के बाद टीम जोधपुर द्वारा पीसीपीएनडीटी सेल जयपुर को सूचना दी गयी। जिस पर अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. जितेंद्र कुमार सोनी द्वारा एक राज्य स्तरीय टीम का गठन किया गया। इसके पश्चात राज्य स्तरीय टीम ने जोधपुर टीम के साथ मिलकर पिछले दो दिन से मामले की तह तक पहुचने के लिए लगी हुई थी।

शुक्रवार को मौका मिलते ही इस संयुक्त डिकॉय कार्यवाही को अंजाम देते हुए लिंग भ्रूण जांच करने के मामले में डॉ. इम्तियाज सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि डॉ. इम्तियाज पूर्व में भी लिंग भ्रूण जांच मामले में चार बार गिरफ्तार हो चुका है साथ ही जेल की हवा भी खा चुका है। उन्होंने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के तहत डॉ इम्तियाज जमानत पर बाहर आने के बाद एक बार फिर लिंग भ्रूण जांच का काम शुरू कर दिया है और इस बार वह पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन से यह जांच कर रहा है।

डॉ. मंडा ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के तहत जोधपुर शहर के पाल रोड स्थित निजी प्रेक्षा अस्पताल में ऑपरेशन थिएटर सहायक भंवरलाल जांगिड़ दलाल के रूप में कार्य करते हुए डॉ.इम्तियाज से लिंग भ्रूण जांच करवाने के कार्य में लिप्त है, इसकी पुष्टि करते हुए बोगस ग्राहक तैयार कर लिंग भ्रूण जांच करने के लिए भंवरलाल जांगिड़ से संपर्क किया तो सत्तर हजार रुपये में जांच करवाने की बात तय हुई। इसके लिए उसने शुक्रवार 22 अप्रैल 2022 को शहर के पाल बालाजी के सामने स्थित अशोक प्रजापत के रूम पर जांच हेतु बुलाया। इसके बाद पीसीपीएनडीटी टीम उसके बताए हुए स्थान पर बोगस ग्राहक को भेज कर सावधानीपूर्वक नजर बनाए हुए थी। जैसे ही डॉ. इम्तियाज खान उस बोगस ग्राहक गर्भवती महिला की सोनोग्राफी करने लगा इसी दौरान पीसीपीएनडीटी टीम में दबिश देकर लिंग भ्रूण जांच करते हुए डॉ. इम्तियाज को दलाल भंवरलाल जांगिड़ व रूम पर मौजूद अशोक प्रजापत को प्रयुक्त पोर्टबल सोनोग्राफी मशीन व 70 हजार रुपये के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

गौरतलब है कि डॉ इम्तियाज पूर्व में राजकीय चिकित्सक था, लेकिन पीसीपीएनडीटी मामले में गिरफ्तार होने के बाद उसे निलंबित किया जा चुका है। वह पूर्व में चार बार पीसीपीएनडीटी मामले में गिरफ्तार हो चुका है और इस बार पांचवी बार उसे गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल पीसीपीएनडीटी टीम ने डॉ इम्तियाज के अलावा पाल रोड स्थित प्रेक्षा अस्पताल में ओटी सहायक के रूप में काम करने वाले दलाल भंवरलाल जांगिड़ और अशोक प्रजापत को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों पर पीसीपीएनडीटी एक्ट तहत नियमानुसार कानूनी कार्यवाही करेगी।

दिल्ली से खरीदी मशीन

प्रांरभिक पूछताछ में आरोपी डॉ. इम्तियाज ने भ्रूण लिंग जांच में प्रयुक्त पोर्टबल मशीन दिल्ली से खरीदना बताया जिसकी कीमत करीब दो से ढाई लाख रुपए बताई जा रही है।

डिकॉय कार्यवाही में यह टीम रही शामिल

इस डिकॉय ऑपरेशन में पीसीपीएन डीटी थानाधिकारी मनोहर सिंह, जितेंद्र गंगवानी, जोधपुर जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक सरला दाधीच, पाली पीसीपीएनडीटी कॉर्डिनेटर महेश, कानिस्टेबल मुकेश कैलाश योगी, शानू व सहयोगी रामप्रताप आदि शामिल थे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews