स्कूल फीस मेें 1.57 करोड़ का हेरफेरी करने वाला दंपति गिरफ्तार

स्कूल फीस मेें 1.57 करोड़ का हेरफेरी करने वाला दंपति गिरफ्तार

द शांति निकेतन एजुकेशन की केशियर ने अपने पति संग मिलकर किया फ्रॉड

जोधपुर,स्कूल फीस मेें 1.57 करोड़ का हेरफेरी करने वाला दंपति गिरफ्तार।शहर के झालामंड स्थित द शांति निकेतन एजुकेशन की एक शाखा में कार्यरत महिला ने केशियर के पद पर कार्य करते हुए स्कूल के बच्चों की फीस में हेरफेर करते हुए 1.57 करोड़ का फ्राड कर डाला। इस काम में उसका पति भी शामिल था। वर्ष 2019 से लेकर 2022 तक यह गबन किया गया। स्कूल के मैनेजर/सहायक मैेनेजर की तरफ से दंपती के खिलाफ कुड़ी थाने मेें धोखाधड़ी की रिपोर्ट हुई थी। पुलिस ने अब जांच के बाद आरोपी दंपति को गिरफ्तार कर लिया है। कुड़ी पुलिस थाने में चौहाबो सेक्टर 18 ई निवासी कैलाश नारायण जोशी पुत्र हिमताराम जोशी की तरफ से यह रिपोर्ट दी गई थी। इसमें बताया कि वे द शांति निकेतन एजुकेशन ट्रस्ट के मैनेजर एवं सहायक मैनेजर हैं। इसकी एक शाखा कुड़ी भगतासनी झालामंड मेें है। जहां पर वर्ष 2017 नवंबर माह में आकांशा व्यास पत्नी मनोज व्यास बतौर एकाउंटेंट के पद पर लगी थी। इसी साल वह मातृत्व के अवकाश पर भी रही। आकांशा द्वारा ही स्कूल का सारा लेखा जोखा का कार्य किया जाता था। मातृत्व अवकाश के समय उसने कार्यभार अपने पति मनोज को दे दिया था। तब वह सारा कार्यभार देखने लगा।

यह भी पढ़ें – उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी से यूएन प्रतिनिधियों ने की मुलाकात

स्कूल के बच्चों की फीस लेन देन ऑनलाइन खाता, नगद और चेक आदि द्वारा की जाती थी। वर्ष 2022 में स्कूल ने श्रीवैष्णवी एजुकेशनल ट्रस्ट को लीज पर दिया था। फिर वैष्वणी एजुकेशनल की तरफ से वहां श्रीचैतन्य टेकनो स्कूल को संचालित किया गया। मगर स्कूल के खाते का काम आकांशा व्यास के पास ही रहा। वह निरंतर सेवा देती रही। अगस्त 2023 को चैतन्य टेकनो से पता लगा कि स्कूली बच्चों की फीस में हेरफेर की गई है। कई अभिभावकों ने फीस को जमा करवा दिया था। कुल मिला कर यहां पर 1 करोडृ 57 लाख 39 हजार 900 रुपयों का गबन सामने आ गया। इस पर आकांशा से बात किए जाने पर पता लगा कि बच्चों की स्कूल फीस वह सीधे अपने खाते में ट्रांसफर करवा देती थी, फिर अपने पति मनोज के खाते में ट्रांसफर कर देती। इनका खाता जलजोग स्थित एक निजी बैंक में है। बाद में आकांशा को इसकी भरपाई करने के लिए कहा गया तो उन लोगों ने दो चेक दिए। मगर बाद में बाद में इन लोगों ने चेक लगाने से भी मना कर दिया। इस तरह उन्होंने स्कूल में कार्य करते हुए 1.57 करोड़ से ज्यादा का गबन कर डाला। कुड़ी पुलिस अब पकड़े गए दंपति से पूछताछ में जुटी है।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts