टनल के अंदर फंसे सभी 41 श्रमिक सुरक्षित,कैमरे में नजर आए बात भी की

टनल के अंदर फंसे सभी 41 श्रमिक सुरक्षित,कैमरे में नजर आए बात भी की

  • मुख्यमंत्री धामी ने ट्वीट कर दी जानकारी
  • पाइप लाइन से टनल में डाला एंडोस्कोपी कैमरा और वॉकी टॉकी
  • सभी 41 श्रमिकों से बात की गई
  • सभी 41 श्रमिक सुरक्षित व स्वस्थ हैं
  • अब श्रमिकों से लगातार संपर्क बना हुआ है
  • टनल के अंदर अब रोशनी की व्यवस्था भी कर दी गई है

उत्तरकाशी,उत्तराखंड के सिलक्यारा टनल हादसे में दसवें दिन राहत की खबर आई है। आज प्रातः सुरंग में नए डाले गए पाइलाइन से एंडोस्कोपिक कैमरे,वॉकी-टॉकी डाले गए। इन कैमरों की मदद से श्रमिकों को देखा गया और श्रमिकों से बात भी की गई।

 

श्रमिकों ने अंदर का पूरा हाल बताया। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन टनल में सिलक्यारा के पास बड़ा मलबा आ जाने से दिवाली के दिन 41 श्रमिक फंसे गए थे। तब से ही उन्हें सकुशल निकालने के लिए दिन रात रेस्क्यू किया जा रहा है। इसमें विदेशी एजेंसियों की भी मदद ली जा रही है। अब तक के सभी प्रयास विफल हो गए श्रमिकों को निकालने सफलता नहीं मिल सकी। अब सुरंग के अंदर तक पहुंचने के लिए कई जगह से ड्रिलिंग शुरू किया गया है। नौवे दिन सोमवार को पहली सफलता 6 इंची लोहे के पाईप को मलबे को भेदकर सुरंग के अंदर भेजने में मिल पाई। यह 6 इंच व्यास का पाइप 57 मीटर लंबा है। इसकी सफलता से बचाव कार्य में जुटी एजेंसियों ने बड़ी राहत महसूस की है। पाईप के जरिए सर्वप्रथम श्रमिकों को खाने के लिए जूस, खिचड़ी,पानी, दवाइयां इत्यादि अंदर भेजी गई और अंदर रोशनी की व्यवस्था की गई। इतना सब होने पर भी अंदर की स्थिति पता नहीं चल पा रहा था।मजदूरों की स्थिति देखने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया था लेकिन अंदर धूल होने से तस्वीरें साफ नहीं थी।इसके बाद दिल्ली से एंडोस्कोपिक कैमरे मंगाए गए। एंडोस्कोपिक कैमरा आज सुबह पाईप से भीतर पहुंचाया गया। इसके बाद कैमरे से अंदर की बहुत साफ तस्वीर दिखाई देने पर बचाव कार्य में जुटे लोगों के चेहरे खिल उठे। तस्वीरों में टनल के अंदर फंसे सभी 41मजदूर दिखाई दिए। सभी श्रमिक सुरक्षित और स्वस्थ हैं। उनसे बात करने के लिए बाकी-टाकी का प्रयोग किया जा रहा है। बताया गया कि सभी श्रमिकों से एक-एक कर कैमरे के सामने बुलाकर बात की गई। श्रमिकों से लगातार संपर्क बना हुआ है। अंदर फंसे श्रमिकों को हौसला बनाए रखने के साथ ही आश्वस्त किया कि रेस्क्यू कार्य तेजी से हो रहा है। जल्द ही उन्हें सकुशल बाहर निकाल लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें – मुख्यमंत्री पद के लालच में गहलोत ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को ठुकराया दिया- पियूष गोयल

राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट कर कैमरे के सुरंग में भेजे जाने को लेकर जानकारी दी। उन्होंने लिखा ‘सिल्क्यारा,उत्तरकाशी में निर्माणाधीन टनल में फंसे श्रमिकों की पहली बार तस्वीर प्राप्त हुई है। सभी श्रमिक भाई पूरी तरह सुरक्षित हैं। हम उन्हें शीघ्र सकुशल बाहर निकालने हेतु पूरी ताक़त के साथ प्रयासरत हैं।’

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts