जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का विशेष अभियान

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का विशेष अभियान

जोधपुर शहर में अवैध जल सम्बन्ध काटने तथा अवैध रूप से बूस्टर लगाने वालों के विरुद्ध होगी कार्यवाही

जोधपुर,जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का विशेष अभियान। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग आमजन को स्वच्छ,गुणवत्ता युक्त एवं नियमित रुप से पेयजल उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री द्वारा दिये गए निर्देशों की पालना में सम्पूर्ण राजस्थान में विभागीय पाईप लाईन राईजिंग मेन एवं जल वितरण पाईप लाईन पर किये गये अवैध जल सम्बन्ध को हटाने,पानी की चोरी रोकने के लिए एवं अवैध रुप से बूस्टर लगाने को रोकने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

इसलिए ज़रूरी है यह अभियान
अवैध जल सम्बन्ध के साथ जल की चोरी न सिर्फ नीति विरुद्ध है,अपितु इससे वैध जल उपभोक्ताओं एवं अन्तिम छोर के उपभोक्ताओं को उचित मात्रा व सही दबाव पर जल की आपूर्ति नही हो पाती है। अनाधिकृत व्यक्तियों द्वारा किए गए अवैध जल सम्बन्ध की वजह से लीकेज आदि होकर दूषित पानी आने की शिकायतें भी आती है। इस प्रकार जल जनित रोग होने से उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है।

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग नगर वृत जोधपुर के अधीक्षण अभियंता जेसी व्यास ने इसी क्रम में आमजन से अपील है कि यदि वितरण पाईप लाईन पर अवैध जल सम्बन्ध किया हुआ है तो 28 फरवरी 2024 तक निर्धारित प्रक्रिया अपना कर राज्य आज्ञा 31 मार्च,2017 की धारा 19 के अन्तर्गत जल पर नियमानुसार 1100 एक मुश्त तथा कम से कम 30 हजार लीटर औसत मासिक उपभोग के आधार पर एक वर्ष के जल उपभोग की पांच गुना राशि जमा कराकर नियमित करना सुनिश्चित करें। इसके पश्चात विशेष अभियान के दौरान यदि अवैध जल सम्बन्ध पाया जाता है तो जल सम्बन्ध काटने के साथ साथ उनके विरुद्ध प्रिवेंशन ऑफ डैमेज तो पब्लिक प्रॉपर्टी एक्ट 1984 की धारा 3 की उप धारा 2 तथा आईपीसी की धारा 379 एवं 430 के तहत विभागीय नियमानुसार कठोर से कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी जिसकी समस्त जिम्मेदारी अवैध जल सम्बन्ध करने वाले व्यक्ति की रहेगी। उपरोक्त नियमितिकरण सिर्फ पेयजल वितरण पाईप लाईनों से किए गए अवैध कनेक्शन के लिए ही है। यदि राइजिंग मेन लाईन से अवैध कनेकशन लेकर चोरी की जा रही है तो जल सम्बन्ध काटकर उसके विरुद्ध पेनल्टी के साथ एफआईआर दर्ज करवाकर विधिक कार्यवाही की जायेगी।

उन्होंने जल वितरण पाईप लाईन में से किसी भी प्रकार के अवैध कनेक्शन करने वाले उपभोक्ताओं से अपील की है कि विभाग की जल वितरण व्यवस्था में नियमित उपभोक्ता बनें तथा विभागीय पाईप लाईन से सीधे बूस्टर लगा कर पानी नही खिचें और इस तरह प्रदेश में जल उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण एवं नियमित पेयजल उपलब्ध कराने के संकल्प में विभाग को सहयोग प्रदान करे।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन यहां से इंस्टाल कीजिए https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

Similar Posts