सुबह ग्रामीणों ने दिया धरना,कार्रवाई के आश्वासन पर धरना खत्म

  • खारी गांव बवाल मामला
  • पुलिस को सौंपा मांगों का ज्ञापन
  • अब तक 17 लोग शांति भंग में गिरफ्तार
  • तीन केस दर्ज,गिरफ्तारी शेष

जोधपुर,निकटवर्ती डांगियावास के खारी गांव में मंगलवार की सुबह हुए बजरी लीज होल्डर एवं ग्रामीणों के तनाव के बीच पुलिस बल तैनात है। इधर आज सुबह ग्रामीणों ने डांगियावास थाने के सामने धरना दिया। दोपहर बाद ग्रामीणों ने एसीपी राजेेंद्र प्रसाद दिवाकर को पुलिस उपायुक्त के नाम पर एक ज्ञापन दिया। जिसमें कुछ मांगों जिनमें आरोपियों की गिरफ्तारी,श्मशान या कब्रिस्तान भूमि पर खनन नहीं करने,निर्दोषों को गिरफ्तार नहीं करने और खनन सीमांकन किए जाने सहित आदि मांगे रखी गई है।

ये भी पढ़ें- परमवीर चक्र मेजर शैतानसिंह शहीद दिवस पर श्रद्धांजलि शुक्रवार को

पुलिस ज्ञापन को परिवाद स्वरूप डीसीपी कार्यालय भिजवाया है। घटना के अब तक तीन केस दर्ज किए गए हैं। दो गांववालों की तरफ से एक लीज होल्डर ठेकेदार की तरफ से दर्ज हुआ है। शांति भंग में पकड़े गए लोगों को आज कोर्ट में पेश किया गया। जहां से जमानत मिलने पर फिर से लाया गया है। फिलहाल देर रात तक इनकी गिरफ्तारी नहीं बताई गई। संंभवत: 12 से ज्यादा लोगों को केसबाजी में गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हालांकि आज कोई अनहोनी सामने नहीं आई है। रात को भी पुलिस बल तैनात रहा।

डांगियावास थानाधिकारी कन्हैयालाल ने बताया कि खारी गांव में मंगलवार की सुबह बजरी लीज होल्डर एवं ग्रामीणों में तनातनी के बाद बवाल हुआ था। जिस पर पुलिस ने रात तक कार्रवाई करते हुए 17 लोगों को शांति भंग में पकड़ा था। दोनों पक्ष की तरफ से काफी लाठी भाटा जंग छिडऩे के साथ ग्रामीणों ने उनकी गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया था। तकरीबन सात गाडिय़ों में आग लगा दी गई थी।

ये भी पढ़ें- 28.80 लाख की अवैध शराब बरामद,एक वाहन जप्त

Villagers protested in the morning, protest ended on assurance of action

थानाधिकारी कन्हैयालाल ने बताया कि तीन प्रकरण दर्ज कर लिए गए है। मगर किसी की प्रकरण में गिरफ्तारी नहीं हुई है। इनमें 12 लोग बजरी ठेका कर्मी हैं और 5 ग्रामीणों को शांतिभंग में पकड़ा गया था। एसीपी मंडोर राजेेंद्र प्रसाद दिवाकर ने बताया कि शांति भंग में पकड़े गए लोगों को कोर्ट से जमानत मिलने पर फिर से लाया गया है। जिनमें उनकी पहचान कर केसबाजी में गिरफ्तार किया जाएगा। जांच के बाद ही गिरफ्तारी संभव है।

इस बवाल में आरटीआई बलदेव के पैरों के फ्रेक्चर हो गया था। चार लोग घायल हुए थे। बुधवार की सुबह ग्रामीणों ने पुलिस थाने के सामने 500 मीटर की दूरी पर बने एक मंदिर की चबूतरी पर धरना दिया था। एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात है। धरना देर शाम तक समाप्त कर दिया गया। मगर एहतियात के तौर पर पुलिस बल अब भी तैनात रखे जाने के साथ गश्त बढ़ाई गई है।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews