to-save-braj-84-kos-area-from-illegal-excavation-the-saint-sacrificed-his-life-shekhawat

ब्रज 84 कोस क्षेत्र को अवैध उत्खनन से बचाने के लिए संत ने दी प्राण की आहुति-शेखावत

  • भरतपुर के डीग में अग्निस्नान करने वाले संत के निधन
  • केंद्रीय मंत्री ने जताया गहरा शोक

जयपुर/ जोधपुर, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने संत बाबा विजय दास के निधन पर गहरा शोक जताया है। अपने शोक संदेश में शेखावत ने कहा कि यह हृदय विदारक सूचना है कि संत बाबा विजय दास जी दिव्य ज्योति में लीन हो गए हैं। उन्होंने ब्रज 84 कोस क्षेत्र को अवैध उत्खनन से बचाने के लिए अपने प्राण की आहुति दी है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हठधर्मी राजस्थान सरकार की अनदेखी ने उन्हें अग्निस्नान के लिए विवश किया था। संत समाज से अधिक माफिया का मत मानने वाला शासन-प्रशासन इस सामाजिक क्षति का जिम्मेदार है। शेखावत ने कहा कि परमात्मा दिवंगत पुण्यात्मा को अपने लोक में स्थान प्रदान करें। उनके संगियों, शिष्यों, अनुयायियों और समर्थकों को संबल मिले।

गौरतलब है कि शुक्रवार को शेखावत ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में संत बाबा विजय दास से मुलाकात की थी। साथ ही, चिकित्सकों से उनकी रिकवरी के विषय में जानकारी ली थी। केंद्रीय मंत्री ने उनकी देखभाल में लगे साथियों को हरसंभव सहायता का भरोसा दिया था। संत विजय दास ने 20 जुलाई को भरतपुर के डीग में स्वयं को आग के हवाले कर दिया था।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें –http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews