तीन दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस गुरुवार से,राज्यपाल करेंगे उद्घाटन

तीन दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस गुरुवार से,राज्यपाल करेंगे उद्घाटन

  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन आयुर्वेद विश्वविद्यालय का आयोजन
  • विशेषज्ञ बाल-स्वास्थ्य एवं बाल रोगों पर नवीन शोधपत्र करेंगे प्रस्तुत

जोधपुर,तीन दिवसीय अन्तराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस गुरुवार से,राज्यपाल करेंगे उद्घाटन। डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जोधपुर में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार कौमारकॉन-2023 का आयोजन गुरुवार 28 से 30 दिसंबर 2023 तक किया जाएगा। कुलपति प्रो.(वैद्य) प्रदीप कुमार प्रजापति के मार्गदर्शन में इस अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में भारत सहित 11 देशों से विषय विशेषज्ञ तथा प्रबुद्ध जन सम्मिलित होंगे। कुलपति प्रो. प्रजापति ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ राज्यपाल कलराज मिश्र करेंगे। इसके साथ ही आयुर्वेद विश्वविद्यालय स्थित होमियोपैथी चिकित्सालय के नव निर्मित भवन का लोकार्पण भी राज्यपाल करेंगे।

इसे भी पढ़िए- राष्ट्रीय राजभाषा सम्मेलन गुरुवार को

कुलसचिव सीमा कविया ने बताया कि इस अवसर पर राज्यसभा सांसद  राजेन्द्र गहलोत,लूणी विधायक जोगा राम पटेल,आयुष सचिव भानुप्रकाश येतुरु के साथ विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.बनवारी लाल गौड़ तथा प्रो.अभिमन्यू कुमार,भारतीय चिकित्सा केंद्रीय पद्धति के अध्यक्ष वैद्य जयंतदेव पुजारी,संपूर्ण भारत वर्ष के आयुर्वेद विश्वविद्यालयों के कुलपति यथा राष्ट्रीय आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जयपुर के प्रो.संजीव शर्मा,गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय,जामनगर के वैद्य मुकुल पटेल,उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय,देहरादून के प्रो अरुण कुमार त्रिपाठी, श्रीकृष्णा आयुष विश्वविद्यालय,हरियाणा के प्रो वैद्य करतार सिंह धीमान, अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान की निदेशक प्रो. तनूजा नेसरी, केंद्रीय आयुर्वेदीय विज्ञान अनुसन्धान परिषद्,दिल्ली के महा निदेशक प्रो.रविन्द्र नारायण आचार्य, इंस्टिट्यूट ऑफ टीचिंग एंड रिसर्च इन आयुर्वेद,जामनगर के निदेशक प्रो. अनूप ठक्कर,जोधपुर के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों के कुलपति तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे।

यह बजी पढ़िए- शराब पीकर होटल आने पर टोका तो गार्ड को जान की धमकी देकर तलवार से हमला

कौमारकॉन-23 के आयोजन अध्यक्ष एवं डीन रिसर्च प्रो.प्रेम प्रकाश व्यास ने बताया कि इस संगोष्ठी में 5 प्लेनरी सेशन में 22 की-नोट स्पीकर,18 वैज्ञानिक सत्र में 32 रिसोर्स पर्सन, 390 डेलीगेट्स के साथ ही देश-विदेश से लगभग 700 आयुर्वेद विज्ञान के बाल रोग विशेषज्ञ तथा अध्येता आयुर्वेद की इस ज्ञान गंगा में भाग लेंगे। तीन दिन आयोजित संगोष्ठी में बाल रोगों तथा बाल स्वास्थ्य से संबंधित विषयों पर वैश्विक स्तर पर  विषय विशेषज्ञों द्वारा ज्ञान मंथन किया जाएगा। उप-कुलसचिव प्रो. महेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि इस अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में भारत के साथ ही अमेरिका,फ्रांस,यूनाइटेड किंगडम, जापान,बांग्लादेश एवं नेपाल के 16 संस्थानों के साथ एमओयू पर भी हस्ताक्षर किए जाएंगे,जो आयुर्वेद विज्ञान में शोध एवं चिकित्सा के क्षेत्र में नया मील का पत्थर होंगे। आयोजन सचिव डॉ.हरीश कुमार सिंघल ने बताया कि राजस्थान की अतिथि सम्मान की परंपरा में देश-विदेश से आए विशेषज्ञों को संगोष्ठी के दौरान ओसियां के धार मरुस्थल का भ्रमण भी करवाया जाएगा। कुलपति ने वैश्विक संगोष्ठी के सफलता पूर्वक संपन्न होने की कामना के साथ कहा कि यह संगोष्ठी आयुर्वेद के आधुनिक महत्व को स्थापित करने में सहायता प्रदान करेगी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन यहां से इंस्टॉल कीजिए https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts