एक लाख दिलाने का झांसा देकर 42 लाख की ठगी के आरोपी को नहीं मिली जमानत

एक लाख दिलाने का झांसा देकर 42 लाख की ठगी के आरोपी को नहीं मिली जमानत

जोधपुर, किसी कंपनी की फ्रेंचाइजी दिलाने व हर महीने दुकान के किराए पेठे 1 लाख रुपए का झांसा देकर 42 लाख की धोखाधड़ी के मामले में आरोपी को कोर्ट ने जमानत देने से इनकार कर दिया। परिवादी की ओर से वेब पोर्टल ओएलएक्स पर अपनी दुकान किराए पर देने का विज्ञापन देने पर अभियुक्त संख्या-1 द्वारा उससे संपर्क कर अपने व्यापार में निवेश करने पर मेल्स स्क्वायर लिमिटेड प्राइवेट कंपनी की फ्रेंचाइजी व एक लाख रुपए महीने का किराया प्रदान करने और 15 प्रतिशत जो भी बेचान हो, वो राशि प्रदान करने का कहा।

इस पर परिवादी ने अभियुक्तों को मैक्सीस एक्सपोज प्रालि. फर्म के नाम से 50 हजार का चेक व बाद में 6 लाख 25 हजार का भुगतान किया। अभियुक्तों द्वारा परिवादी से 35 लाख 75 हजार रुपए की मांग करने पर परिवादी ने रिश्तेदार आदि से प्राप्त कर वह भी दिए। फिर आरोपियों का व्यवहार बदल गया, उसके फोन उठाना व ई-मेल का जवाब देना बंद कर दिया। उसे ना समुचित स्टॉक भेजा और ना ही परिवादी को मासिक किराए की राशि दी।

उदयमंदिर पुलिस ने की थी जांच

आरोपियों ने 42 लाख 50 हजार रुपए व जायदाद हड़प ली। उदयमंदिर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। लोक अभियोजक केशरसिंह नरूका ने जमानत का विरोध किया और कहा कि आरोपी के खिलाफ 7 और प्रकरण दर्ज हैं। सेशन न्यायाधीश रविंद्र कुमार जोशी ने दोनों पक्ष सुनने के बाद आरोपी शशिकरण को जमानत देने से इनकार कर जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews