नकबजनी करने से पहले बच्चों को 20 रूपए देकर बाहर भेजा, गहने रूपए लेकर चंपत

नकबजनी करने से पहले बच्चों को 20 रूपए देकर बाहर भेजा, गहने रूपए लेकर चंपत

बस की पहचान कर पुलिस पहुंची शातिर नकबजन तक

जोधपुर, जिले की ग्रामीण पुलिस ने नकबजनी के एक आरोपी को गिरफ्तार माल बरामद किया है। आरोपी से पूरा माल बरामद कर लिया गया है। आरोपी ने वारदात को अंजाम देने से पहले घर में मौजूद बच्चों को बीस रूपए खर्ची के लिए दिए। बाद में वारदात को अंजाम देकर गहने और रूपए लेकर भाग गया। पुलिस ने अथक परिश्रम के बाद आज आरोपी को गिरफ्तार कर माल सहित पकड़ लिया।

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने बताया कि फलोदी में हुई नकबजनी की घटना में बीकानेर के जसरासर निवासी जोगेेंद्र कठौतिया पुत्र शंकरलाल को गिरफ्तार किया गया। 24 मार्च को पालू पत्नी रामनिवास निवासी कानासर हाल इन्दिरा कॉलोनी फलोदी ने उपस्थित थाना होकर रिपोर्ट पेश की कि दिन में करीब 2-30 बजे में खींचन स्कूल गई हुई थी। मेरे बच्चे उस समय घर पर ही थे। उस वक्त जोगेंद्र कठौतिया पुत्र शंकरलाल कठोतिया जो मेरे चाचा गणपत राम के दूध के भट्टे पर रहता है जो आज से पहले भी दो से तीन बार पहले भी घर आया था जब मैं घर पर नहीं मिली तो बच्चों को 20 रुपये देकर बिस्कुट लाने भेज दिया। बाद में उसने मेरे घर में रखे 22 हजार व 4 तोला सोने के आभूषण चुरा कर ले गया। जब मैं घर वापस आई तो मेरे घर में रखे रुपए व सोने के आभूषण गायब थे।

यूं लगाया आरोपी का पता

ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कयाल ने बताया कि पुलिस की टीम द्वारा आसूचना व सीसीटीवी कैमरों को चैक करने पर एक व्यक्ति प्रार्थी के घर से गहना लेकर जाने मे सदिग्ध होने से उसका रूट देखा गया तो बस स्टैण्ड की तरफ आना पाया तथा उसके बाद रामदेवरा,कोलू व खिंरवा टोल के कैमरों को चैक किया गया तथा बस चालकों एवं परिचालकों से पता किया तो उक्त हुलिए का व्यक्ति बीकानेर की तरफ जाने वाली बस में बैठा था। टीम द्वारा बस की पहचान की गई। बस की पहचान कर उसको पुलिस थाना नाल जिला बीकानेर को सूचना देकर नाकाबन्दी कर बस को रूकवाया गया। जिस पर बस को चैकिग की गई तो जोगेन्द्र कठौतिया के पास से अवैध मादक पदार्थ के साथ उक्त जेवरात के साथ दस्तयाब किया गया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews