police-engaged-in-investigation-about-his-wife-from-vicious-gangster

शातिर गैंगस्टर से उसकी पत्नी के बारे में पुलिस जांच में जुटी

  • सगी बहनों के अपहरण एवं दुष्कर्म का मामला
  • हत्या की आशंका में हो सकता है इसका भी खुलासा
  • छह दिन की पुलिस अभिरक्षा में लिया

जोधपुर,शहर के माता का थान इलाके में गत 16 नवंबर को नाबालिग सहित उसकी बहन के अपहरण के केस में पुलिस ने उत्तराखंड के एक गैंगस्टर को बुधवार को गिरफ्तार किया था। उसे आज कोर्ट में पेश कर छह दिन की पुलिस अभिरक्षा में लिया गया है। उसकी पत्नी पिछले दस साल से लापता है। आशंका है कि उसने पत्नी की भी हत्या की हो। इसके लिए जोधपुर पुलिस भी संभवत: पता लगाने का प्रयास करेगी। गैंगस्टर से पुलिस को कई बड़े राज खुलने की संभावना है।

गत 16 नवंबर को दो बहनों के अपहरण किए जाने के संबंध में मामला दर्ज हुआ था। जिसमें एक बहन नाबालिग थी। इस पर पुलिस ने अपहरण एवं पॉक्सो में केस दर्ज करते हुए गंभीरता से लिया। कमिश्ररेट पुलिस के साथ साइबर टीम को इसमें लगाया गया। पीडि़त परिवार के घर में एक व्यक्ति आकर रूका था। जिसने अपना नाम इनको अंशु राजपूत होना बताया। मगर बाद में पता लगा कि उसने अपनी एक फर्जी आईडी से नाम विवेक प्रजापत होना भी रखा है।

ये भी पढ़ें- नाबालिग बहनों के अपहरण में उत्तराखंड का गैंगस्टर गिरफ्तार

मामला गंभीर प्रकृति का लगने पर पता लगाया गया। पुलिस ने बहनों सहित आरोपी का पता लगाने के लिए टीमों को बाहर भेजा। पता लगा कि वह अजमेर में किशनगढ़ में है। मगर इस बीच पता लगा कि वह भोपाल में एक होटल में ठहरा है। इस पर पुलिस ने आरोपी उत्तराखंड के गिरीताल कॉलोनी के रहने वाले हितेंद्र कुमार को गिरफ्तार जोधपुर लाई।

आरोपी चार हत्याओं के केस में शामिल रहा है। दो में तो नामजद रहा है। वर्ष 2005 में संत ज्ञानेश्वर में एके 47 से हत्या के केस में शामिल रहा है। वर्ष 2007 में फरीदकोट में भी हत्या के केस में शामिल पाया गया। साल 2012 में उसकी पत्नी लापता हो गई थी। जिसके पीहर पक्ष ने भी ने उस पर हत्या किए जाने की आशंका जताई है,जिस पर अभी जांच लंबित है। जोधपुर में बहनों को ओलो पार्टी एप से फांसा था। उसने नाबालिग की बड़ी बहन से होटल में कई बार दुष्कर्म भी किया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews