सर्किट हाउस में हुई शान्ति समिति की बैठक

सर्किट हाउस में हुई शान्ति समिति की बैठक

  • शहर के प्रतिनिधियों ने लिया शान्ति, सौहार्द एवं पारस्परिक विश्वास को अक्षुण्ण बनाए रखने का संकल्प
  • मंत्रीगण ने दिलाया भरोसा दोषी बख्शे नहीं जाएंगे,निर्दोषों पर कार्यवाही नहीं

जोधपुर, में पारस्परिक सौहार्द, अपणायत और शान्ति बनाए रखने के लिए हर स्तर पर सार्थक प्रयास करने में पूरी-पूरी भागीदारी के संकल्पों के साथ शान्ति समिति की बैठक बुधवार को जोधपुर सर्किट हाउस में सम्पन्न हुई।

इसमें शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, प्रभारी मंत्री, तकनीकि शिक्षा मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग एवं गृह राज्य मंत्री राजेन्द्र यादव की मौजूदगी में विभिन्न समुदायों के धर्माचार्यों,जन प्रतिनिधियों, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों एवं गणमान्य शहरवसियों ने शहर में शांति, सद्भाव एवं सौहार्द की परम्परा को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए मिलजुलकर सहभागिता निभाने का प्रण लिया और कहा कि सभी चाहते हैं कि शहर की स्थिति जल्द से जल्द पहले की तरह अमन-चैन से खुशगवार हो जाए और इस प्रकार की घटना की फिर कभी पुनरावृत्ति न हो।

सर्किट हाउस में हुई शान्ति समिति की बैठक

शांति समिति की बैठक में राजस्थान पशुधन बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र सोलंकी, राज्यसभा सांसद राजेन्द्र गहलोत,शहर विधायक मनीषा पंवार, सूरसागर विधायक सूर्यकान्ता व्यास, महापौर उत्तर कुन्ती देवड़ा, महापौर दक्षिण वनिता सेठ, राज्य मेला प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रमेश बोराणा सहित जन प्रतिनिधिगण, शहर काजी शेर मोहम्मद मुफ्ती ए आलम राजस्थान, बड़ा रामद्वारा सूरसागर के महंत रामप्रसाद, शीन काफ निजाम, समाजसेवी जसवन्त सिंह कच्छवाहा, सलीम खान, नरेश जोशी, पूर्व महापौर रामेश्वर दाधीच, स्वतंत्रता सेनानी बालमुकुन्द बिस्सा के परिवार से उनके पौत्र सुरेश बिस्सा सहित विभिन्न धर्मों एवं समुदायों के प्रतिनिधिगण एवं गणमान्य शहरवासियों ने हिस्सा लिया।

बैठक में अतिरिक्त गृह सचिव अभय कुमार,अतिरिक्त निदेशक पुलिस हवासिंह घुमरिया एवं संजय अग्रवाल, जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता, पुलिस आयुक्त नवज्योति गोगोई सहित प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारीगण उपस्थित थे।

शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला, प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग एवं गृह राज्यमंत्री राजेन्द्र यादव ने इस अवसर पर जोधपुर की सद्भाव, शांति एवं सौहार्द की गरिमामय परम्पराओं का स्मरण किया और सभी से आग्रह किया कि अमन-चैन के इस शहर में शान्त एवं सद्भाव बना रहना चाहिए।

मंत्रीगण ने सभी उपस्थित प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा, और किसी भी निर्दोष को पकड़ा नहीं जाएगा। कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटा जाएगा।

शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने इस घटना पर अफसोस जताते हुए उपस्थितजनों से आग्रह किया कि कोई ऐसा वक्तव्य न दें, जिससे शहर की शांति और सद्भाव पर असर पड़े। उन्होंने बताया कि शान्ति एवं पारस्परिक सद्भाव बहाली के लिए थानों में बनी शांति समितियों की बैठकें की जाएंगी।

बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियों ने दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने का आग्रह करते हुए कहा कि निर्दोष लोगों पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जानी चाहिए। इस पर मंत्रीगण ने आश्वस्त किया कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। इस बारे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी स्पष्ट निर्देश हैं कि कानून तोड़ने के लिए जो भी दोषी हैं उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी और निर्दोष के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की जाए।

प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि पुलिस एवं प्रशासन गंभीरता के साथ जुटा हुआ है। उन्होंने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस कार्यवाही कर रही है। इसमें किसी को कोई आपत्ति हो तो पुलिस के पास पहुंच कर वीडियो फुटेज देखे जा सकते हैं।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews