नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी व आफ़री के मध्य एमओयू 

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी व आफ़री के मध्य एमओयू

जोधपुर,नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी व आफ़री के मध्य एमओयू नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, जोधपुर व शुष्क वन अनुसन्धान संस्थान आफ़री,जोधपुर के मध्य एक महत्वपूर्ण मेमोरेंडम  ऑफ अंडरस्टैंडिंग (MoU) का  हस्ताक्षर समारोह संपन्न हुआ। कार्यक्रम  की शुरुआत पौधा रोपण से हुई।

यह भी पढ़ें – ठंड से कंपकंपाया मारवाड़,गलन ने बढ़ाई परेशानी

कुलपति नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी जोधपुर प्रो.डॉ हरप्रीत कौर ने बताया कि यह  एमओयू पर्यावरण  कानून,वानिकी व  प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में शिक्षा,अनुसंधान  और क्षमता निर्माण  में  सहयोग को बढ़ावा देगा। इस समझौते से इंस्टीटूट्स के फैकल्टी,विद्यार्थियों एवं  शोधार्थियों को विभिन्न पर्यावरण एवं  वानिकी कानून सम्बंधित विषयों पर शोध करने का अवसर मिलेगा। आने  वाले  समय में दोनों इंस्टीटूट्स नेशनल  लॉ यूनिवर्सिटी जोधपुर के सेंटर फॉर इनोवेशन  एंड एन्त्रेप्रेंयूर्शिप फॉर वीमेन के साथ मिल कर ग्रामीण महिलाओं को वानिकी एवं वन उत्पादों से सम्बंधित शिक्षा देकर रोज़गार  कमाने हेतु प्रोत्साहित करेंगे।

यह भी पढ़ें – नवनियुक्त कलक्टर गौरव अग्रवाल ने किया पदभर ग्रहण

निदेशक एमआर बालोच जोधपुर ने  वन नीतियों की जानकारी देते हुए  जैव विविधता संरक्षण व भूमि अवक्रमण मेंअनुसन्धान एवं कानूनी व्यवस्था के महत्व को बताया। इस कार्यक्रम में नेशनल लॉ  यूनिवर्सिटी के संकाय सदस्य एवं आफ़री के वैज्ञानिक एवं अधिकारी उपस्थित थे।कार्यक्रम के आरम्भ में डॉ नीति माथुर ने  एनएलयू का  संक्षिप्त परिचय दिया  व  कार्यक्रम का सञ्चालन किया।आफ़री  के समूह  समन्वयक शोध डॉ तरुण कांत  ने आफ़री संसथान के शोध कार्यो का  परिचय दिया और धन्यवाद ज्ञापित किया।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts