मुख्य सरगना गिरफ्तार,साल भर से चला रहा था फर्जी कॉल सेंटर

मुख्य सरगना गिरफ्तार,साल भर से चला रहा था फर्जी कॉल सेंटर

फर्जी कॉल सेंटर आईबीएस कंपनी प्रकरण

जोधपुर,मुख्य सरगना गिरफ्तार,साल भर से चला रहा था फर्जी कॉल सेंटर।फर्जी कॉल सेंटर चलाकर लोगों को ऑन गाड़ी सर्विस प्रोवाइड कराने के नाम पर ठगी करने वाला शातिर अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। आरोपी एक साल से कॉल सेंटर चला रहा था। वह राजस्थान सहित देशभर के वाहन मालिकों को डाटा अपने पास रखता था और सर्विस सेंटर पर काम करने वालों को उपलब्ध करवा कर ठगी की वारदातों को अंजाम देता था। पुलिस ने अब इससे कई बड़े राज खुलने की संभावना व्यक्त की है।

यह भी पढ़ें – बच्चों को स्कूल छोड़ने निकला आयकर निरीक्षक लापता

गत 27 जनवरी को पुलिस एक कॉल सेेंटर का पर्दाफाश किया था। जहां फर्जी कॉल सेंटर चलाकर एक पुरूष और आठ युवतियोंं को हिरासत में लेकर गिरफ्तार किया गया है। कुड़ी भगतासनी में पुलिस ने यह रेड देकर खुलासा किया है। सेक्टर में चलने वाले फर्जी कॉल सेंटर आईबीएस कंपनी पर यह कार्रवाई की गई है। पुलिस ने कॉल सेेंटर से 26 फर्जी सिम कार्ड के साथ 60 विभिन्न कंपनियों के कार्ड को बरामद किया है। कई वाहनों के रिकॉर्ड को जब्त किया गया है जिनके मालिकों से ठगी की गई है।
कुड़ी भगतासनी सेक्टर 2 श्रीजी कॉम्पलैक्स में दूसरी मंजिल में इंडियन ब्रेकडाउन सर्विस इंडिया व केबीएस नाम से फर्जी कॉल सेंटर चल रहा था। यहां पर हिरासत मेें लेकर युवतियों और एक व्यक्ति से पूछताछ में सामने आया कि अलग-अलग राज्यों के वाहनों की सूचियां एवं वाहन मालिकों के नाम पते हैं।यहां पर सेंटर संचालक ने इन लोगों को सिम कार्ड उपलब्ध करवा रखे हैं। जिसके जरिए यह लोग वाहन मालिकों को मोबाइल पर कॉल करते हैं। वाहनों के बीच रास्ते खराब होने पर उन्हें सर्विस प्रोवाइड करवाते है। इसके लिए 3500-4000 रुपए लिए जाते थे। वाहन मालिक को फर्जी कार्ड दे दिया जाता था। वाहन मालिक को कार्ड बनाने के नाम झांसा में लेने के बाद कोरियर के जरिए कार्ड को पते पर भिजवा दिया जाता था। फिर जिस नंबर से यह लोग कॉल करते उस सिम कार्ड को बंद अथवा फेंक देते थे।

यह भी पढ़ें – फैक्ट्री का ताला तोड़कर पिकअप चुरा ले गए

इन्हेंं किया गया था गिरफ्तार
मामले में जांच कर रहे बासनी थानाधिकारी जितेंद्र सिंह ने बताया कि जालोर के भाद्राजून हाल कुड़ी भगतासनी सेक्टर 2 निवासी आदित्य सिंह,परबतसर नागौर हाल कुड़ी सेक्टर 3 की हर्षिता,उतरणी गिड़ा बाड़मेर हाल सरस्वती नगर निवासी प्रियंका,मधुबन बासनी निवासी लक्ष्मी पंवार,सांगरिया फाटक बासनी निवासी कुमकुम राठौड़,कुड़ी सेक्टर 4 निवासी दिव्यांशी कंवर,सेक्टर 7 की सिमी कौर,मधुबन हाउसिंग बोर्ड निवासी दिव्या प्रजापत एवं मधुबन हाउसिंग बोर्ड की मनीषा राजपुरोहित को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बाद में उन्हें कोर्ट से जमानत मिल गई थी।

यह भी पढ़ें – चोरों ने 60 हजार की नगदी व दो किलो चांदी के बर्तन,सोना चुराया

मुख्य आरोपी लगा हाथ
पुलिस निरीक्षक जितेंद्र सिंह राठौड़ ने बताया कि मुख्य आरोपी कुड़ी भगतासनी सेक्टर 9 निवासी मनीष लखारा पुत्र घीसूलाल लखारा को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में सामने आया कि वह साल भर से यह फर्जी सर्विस सेंटर चला रहा था। अब उससे वाहन मालिकों के नाम पते कौन प्रोवाइड करवाता था इस बारे में पता लगाया जा रहा है।

दूरदृष्टि न्यूज़ की एप्लीकेशन यहाँ से इनस्टॉल कीजिए – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews

 

Similar Posts