हर्षोल्लास से मनाया गोवर्धन पूजा महोत्सव

हर्षोल्लास से मनाया गोवर्धन पूजा महोत्सव

जोधपुर, शहर के तनावड़ा फांटा स्थित श्रीराधा गोविंदजी मंदिर, अंतर्राष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) में गोवर्धन पूजा महोत्सव हर्षोल्लास से मनाया गया। प्रातः मंगला आरती के पश्चात 7ः30 बजे से दर्शन,गुरु पूजा एवं श्रीमद्भागवत कथा हुई। मुख्य कार्यक्रम प्रातः 11 बजे से कीर्तन के साथ आरंभ हुआ, तत्पश्चात 11ः30 बजे गोवर्धन पूजा के महत्त्व पर कथा हुई। मध्यान्ह 12ः30 बजे राजभोग आरती, मध्यान्ह 1ः00 बजे कीर्तन के साथ श्रीगिरिराज जी की परिक्रमा व आरती की गई।

हर्षोल्लास से मनाया गोवर्धन पूजा महोत्सव

मंदिर अध्यक्ष सुंदरलाल ने गिरिराज के महत्व का वर्णन करते हुए बताया कि गोवर्धन पूजा स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने आरंभ करवाई थी, इसलिए भगवान श्रीकृष्ण की आज्ञा को मानते हुए हम सभी को भी गोवर्धन पूजा करनी चाहिए। गिरिराज भगवान की सेवा में सुगंधित फूल, रसदार फल, झरने, और गुफाओं में कंदमूल करवाते थे, इससे भगवान श्रीकृष्ण और बलराम अपने सखाओं के साथ खूब आनंदित होते थे। इसलिए गोपी जनों ने गिरिराज को हरिदासवर्य कहा, अर्थात जो हरिदासों में श्रेष्ठ हैं। सभी भक्तों को दीपावली एवं गोवर्धन पूजा की अनंत बधाइयां प्रेषित की गई।इस अवसर पर सभी भक्तों ने नाम जप करने का संकल्प लिया।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन अभी डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews