थार की तपती धरा पर आज से गिर सकती है राहत की बूंदें

थार की तपती धरा पर आज से गिर सकती है राहत की बूंदें

जोधपुर, प्रदेश सहित समूचा मारवाड़ भीषण गर्मी की जद में है। सूर्योदय के साथ धरती तपनी शुरू होती है जो रात तक गर्म रहती है। मारवाड़ में धोरों की धरती भी अब आग उगल रही है। दोपहर में सडक़ों पर पसरता सन्नाटा इस बात का संकेत है कि लोगबाग इसमें झुलसने लगे हैं।

जोधपुर सहित पश्चिमी राजस्थान में भीषण गर्मी से आमजन बेहाल है। दिन तो दिन रात में भी बेचैनी बनी हुई है। कूलर पंखे और एयरकंडिशनर तक फेल हो रहे हैं। जोधपुर शहर में रविवार को तापमान 44 डिग्री तक पहुंच गया। मौसम विभाग की मानें तो आगामी एक दो दिन में मारवाड़ की धरा पर राहत की बूंदे गिर सकती हैं। अंधड़ और बारिश के आसार हल्के पश्चिमी विक्षोभ से नजर आता है।

राजस्थान में अप्रैल महीने के आखिरी दिन भी गर्मी के तेवर तेज रहे। राज्य के 9 शहरों में दिन का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर दर्ज हुआ। अब तो दिन ही नहीं रात में भी तेज गर्मी पडऩे लगी है। फलौदी में बीती रात न्यूनतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस से भी ऊपर रहा। रेगिस्तानी इलाके बाड़मेर में बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग की मानें तो 2-3 मई को मौसम में बदलाव हो सकता है। यहां पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से पश्चिमी जैसलमेर और जोधपुर और उत्तरी राजस्थान के कुछ भागों में आंधी और बारिश होने के भी आसार बने हैं।

जोधपुर के फलोदी कस्बा इन दिनों सबसे ज्यादा गर्म चल रहा है। यहां पर पारा 45 डिग्री तक बना हुआ है। बता दें कि बाड़मेर, जालौर और जोधपुर के कुछ एरिया में शनिवार को दोपहर बाद मौसम में हल्का बदलाव देखने को मिला। बाड़मेर में दोपहर 3 बजे बाद आसमान में धूलभरी आंधी चलने लगी और बादल छा गए। इससे कुछ एरिया में हल्की बूंदाबांदी भी हुई, जिससे तापमान गिरा और लोगों को गर्मी से मामूली राहत भी मिली थी।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews