स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए वुडटूल का वितरण

स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए वुडटूल का वितरण

जोधपुर, राजस्थान में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए खादी आयोग द्वारा विद्युत चलित चाक, दोना-पत्तल मशीन तथा वेस्ट वुडटूल किट्स का वितरण किया गया। खादी और ग्रामोद्योग आयोग की ओर से विद्युत चलित चाक,दौना पत्तल मशीन तथा वेस्ट वुड टूल किट्स का वितरण मुख्य अतिथि विनय कुमार सक्सेना अध्यक्ष खादी और ग्रामोद्योग आयोग, भारत सरकार के द्वारा किया गया।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग द्वारा स्व-रोजगार बढ़ाने के उद्देश्य से विभिन्न योजनाएँ संचालित की जा रही हैं, जिसमें कामगारों का चयन कर उन्हें प्रशिक्षण प्रदान कर दूल किट्स मशीनें वितरित की जाती हैं। ग्रामोद्योग विकास योजना के अन्तर्गत महत्वाकांक्षी जिला जैसलमेर के नोख एवं सांवरा गांव के 200 कामगारों को विद्युत चालित चॉक का वितरण किया गया।

बाडमेर जिले के बायतू ग्राम के 240 कामगारों को वेस्ट वुड टूल किट्स वितरण किया गया। इसी प्रकार नागौर जिले के 50 कामगारों को 10 दोना-पत्तल मेकिंग मशीनों का वितरण किया गया। इस अवसर पर सक्सेना ने कहा कि खादी आयोग द्वारा संचालित ग्रामोद्योग विकास योजना, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। खादी आयोग के इन योजनाओं से न सिर्फ ग्रामीण इलाकों में स्वरोजगार उत्पन्न होगा बल्कि देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलेगी। कुम्हार सशक्तिकरण योजना, हनी मिशन,वेस्ट वूड ट्रेनिंग जैसी योजनाओं से देश भर में और विशेष कर राजस्थान में हजारों लोगों को स्वरोजगार से जोड़ा गया है। उन्होने यह भी कहा कि राजस्थान के कुम्हारों को उनके बनाए मिट्टी के उत्पादों को बेचने के लिए केवीआईसी ऑनलाइन मार्केट की सुविधा भी प्रदान कर रहा है जिससे उनके उत्पादों को देश भर में बेचा जा सके।

इस अवसर पर खादी और ग्रामोद्योग आयोग की ओर से स्व-रोजगार उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से 490 कामगारों को ग्रामोद्योग विकास योजना के अन्तर्गत जिसमें 170 बीपीएल परिवारों को नि:शुल्क टूल किट्स एवं मशीनें वितरित की गई हैं। एक विद्युत चलित चॉक से 4 कामगारों को काम मिलेगा जिससे 800 पोटर्स को लाभ मिलेगा तथा 1 पत्तल दोना मेकिंग मशीन से 5. कामगारों को कुल 50 कामगारों को रोजगार मिल सकेगा। टूल किट्स व मशीनों के वितरण से कुल 1090 लोगों को स्वरोजगार की प्राप्ति हुई है।

इस कार्यक्रम में सत्यनारायण शुक्ला, उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी (उक्षे), खादी और ग्रामोद्योग आयोग, नई दिल्ली,बद्रीलाल मीना,राज्य निदेशक,खादी और ग्रामोद्योग आयोग, राजस्थान, मलयज गंगवाल, प्रभारी एफडीडीआई,जोधपुर आदि लोग उपस्थित हुए।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें – http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews