commando-training-between-india-and-ghana-started-in-jodhpur

भारत-घाना के बीच कमाण्डों ट्रेनिग जोधपुर में शुरू

  • आरपीटीसी में पहली बार दो देशों के बीच वीआईपी सुरक्षा और कमाण्डों की ट्रेनिग
  • तीन माह चलेगा प्रशिक्षण

जोधपुर,दुनियां भर में वीआईपी को सुरक्षा प्रदान के लिए कमाण्डोज की विशेष भूमिका रहती है। चाहे भारत हो या अन्य कोई देश, सभी देशों के वीआईपी की सुरक्षा के लिए कमाण्डो लगाने होते हैं। इसके लिए भारत और घाना के बीच हुए एक समझौते के तहत जोधपुर के आरपीटीसी में भारत और घाना के बीच मेें गुरूवार को ट्रेनिग शुरू की गई। तीन महिने की इस ट्रेनिग में दोनों देशों के कमाण्डोज को वीआईपी सुक्योरिटी के गुर के साथ कई तरह के प्रशिक्षण दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें- विद्युतकर्मियों की ओल्ड पेंशन की मांग,संयुक्त संघर्ष समिति का विरोध प्रदर्शन

आरपीटीसी के प्राचार्य एवं डीआईजी पुलिस हरेंद्र कुमार के अनुसार आरपीटीसी में यह वीआईपी सुरक्षा कमाण्डोज कोर्स आज से शुरू किया गया है। रिपब्लिक टोबो और भारतीय दल के तकरीबन 40 लोग इसमें ट्रेनिग लेंगे। तीन माह तक की ट्रेनिग में वीआईपी सुरक्षा के साथ कई तरह के प्रशिक्षण दिए जाएंगे। आरपीटीसी के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है।
गुरूवार को शुरू हुए इस प्रेसिडेंसियल सुक्योरिटी कैंप में दोनों देशों के कई कमाण्डोज के साथ प्रतिनिधि मौजूद थे। टोबो (घाना)से आए प्रतिनिधि ने भी मीडिया से बातचीत की और इसके बारे में विस्तृत जानकारी के साथ खूबियां बताई।

दूरदृष्टिन्यूज़ की एप्लिकेशन डाउनलोड करें- http://play.google.com/store/apps/details?id=com.digital.doordrishtinews